केन्द्रीय बल की निगरानी में हो बाकी चरणों के चुनाव- भाजपा

केन्द्रीय बल की निगरानी में हो बाकी चरणों के चुनाव- भाजपा

Manoj Kumar Singh | Publish: Apr, 12 2019 10:58:09 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

कूचबिहार के 297 मतदान केन्द्रों पर पुर्नमतदान की मांग
कहा, आधे से अधिक मतदान केन्द्रों में तैनात की गई राज्य पुलिस

 

कूचबिहार के संसदीय चुनाव में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए भाजपा ने शुक्रवार को नई दिल्ली और कोलकाता में एक साथ मोर्चा खोला। दिल्ली में जहां केन्द्रीय रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने केन्द्रीय चुनाव आयुक्त से मिलकर कथित गड़बडि़यों की शिकायत की वहीं कोलकाता में मुख्य चुनाव अधिकारी कार्यालय के सामने और भीतर भाजपा ने प्रदर्शन किया। पार्टी ने राज्य की बाकी 40 लोकसभा केन्द्रों का चुनाव केन्द्रीय बल की निगरानी में कराने और केन्द्रीय बल उपलब्ध नहीं तो मतदान की तारीख आगे बढ़ाने की मांग की।

कोलकाता
कूचबिहार के संसदीय चुनाव में गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए भाजपा ने शुक्रवार को नई दिल्ली और कोलकाता में एक साथ मोर्चा खोला। दिल्ली में जहां केन्द्रीय रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने केन्द्रीय चुनाव आयुक्त से मिलकर कथित गड़बडि़यों की शिकायत की वहीं कोलकाता में मुख्य चुनाव अधिकारी कार्यालय के सामने और भीतर भाजपा ने प्रदर्शन किया। पार्टी ने राज्य की बाकी 40 लोकसभा केन्द्रों का चुनाव केन्द्रीय बल की निगरानी में कराने और केन्द्रीय बल उपलब्ध नहीं तो मतदान की तारीख आगे बढ़ाने की मांग की।

भाजपा की पश्चिम बंगाल चुनाव कमेटी के अध्यक्ष मुकुल राय ने इस दिन कहा कि कूचबिहार में हुई घटनाओं ने फिर से साबित कर दिया किया बंगाल पुलिस के देख-रेख में राज्य में निष्पक्ष और शान्तिपूर्ण चुनाव नहीं हो सकता है। राज्य पुलिस के सामने तृणमूल कांग्रेस ने सैकड़ों बूथ लूट लिए। बंगाल के लोगों को भी बंगाल पुलिस पर भरोसा नहीं है। इसलिए भाजपा ने आयोग से 297 बूथों पर फिर से मतदान कराने की मांग की है।

साथ ही पार्टी ने आयोग से राज्य के बाकी की 40 लोकसभा सीटों पर केन्द्रीय बल की निगरानी में चुनाव कराने और बंगाल पुलिस को मतदान केन्द्रों से बाहर रखने की मांग की है। आयोग से कहा गया है कि यदि निष्पक्ष और शान्तिपूर्ण चुनाव कराने के लिए पर्याप्त संख्या में केन्द्रीय बल उपलब्ध नहीं होता है तो चुनाव आयोग मतदान की तारीख आगे टाल दे। लेकिन मतदाताओं को मतदान करने के अधिकार से वंचित नहीं होने दे। वे इस दिन पश्चिम बंगाल प्रदेश भाजपा कार्यालय में संवाददाताओं को संबोधित कर रहे थे। इस मौके पर चुनाव कमेटी के शिशिर बाजोरिया और जयप्रकाश मजुमदार भी उपस्थित थे।

 

kolkata

मुकुल राय ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने प्रत्येक मतदान केन्द्र पर केन्द्रीय बल तैनात कर चुनाव कराने का निर्देश दिया है। लेकिन पर्याप्त संख्या में केन्द्रीय बल होने के बावजूद कूचबिहार के डीएम ने अधिकांश मतदान केन्द्रों में राज्य पुलिस के सहारे मतदान कराया। डीएम ने केन्द्रीय बल को दूसरी जगह तैनात कर गड़बड़ी होने वाले मतदान केन्द्रों पर बंगाल पुलिस तैनात कर दी। नतीजा तृणमूल के लोगों ने जम कर बूथ लूटा और हिंसा की।इतना रिगिंग करने और बूथ लूटने के बावजूद कूचबिहार और अलीपुरदुआर से भाजपा की ही जीत होगी।

मुकुल राय ने कहा कि कूचबिहार के इसी डीएम के नेतृत्व में हुए पंचायत चुनाव में भी जिले के 70 प्रतिशत सीटों पर भाजपा उम्मीदवार नामांकन दाखिल नहीं कर पाए और तृणमूल कांग्रेस निर्विरोध जीत गई और वही डीएम कूचबिहार में रिटर्निंग ऑफिसर हैं। इसलिए जो डीएम और पुलिस अधीक्षक निष्पक्ष पंचायत चुनाव नहीं करा पाए है उन्हें लोकसभा चुनाव में जिम्मेदारी नहीं दी जाए।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned