बंदिशें और बारिश कम नहीं कर सकी छठ पूजा की उमंग

बंदिशें और बारिश भी छठ पूजा की उमंग कम नहीं कर सकी। आस्था और भक्ति के बीच व्रतियों ने अपने घरों में पानी के कंटेनरों, तालाबों, नदियों और अन्य कृत्रिम जलाशयों के समीप शनिवार सुबह उगते सूर्य को अघ्र्य अर्पित किया। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक कोलकाता समेत राज्य के अन्य हिस्सों में शनिवार तड़के बारिश होने से छठव्रतियों की परेशानी हुई।

By: Rabindra Rai

Published: 21 Nov 2020, 10:30 PM IST

कंटेनरों, तालाबों, नदियों और अन्य कृत्रिम जलाशयों के समीप अघ्र्य किया अर्पित
बारिश से छठ व्रतियों को मुश्किलों का करना पड़ा सामना
कोलकाता. बंदिशें और बारिश भी पश्चिम बंगाल में छठ पूजा की उमंग कम नहीं कर सकी। आस्था और भक्ति के बीच व्रतियों ने अपने घरों में पानी के कंटेनरों, तालाबों, नदियों और अन्य कृत्रिम जलाशयों के समीप शनिवार सुबह उगते सूर्य को अघ्र्य अर्पित किया। मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक कोलकाता समेत राज्य के अन्य हिस्सों में शनिवार तड़के बारिश होने से छठव्रतियों की परेशानी हुई। सुबह के समय छठ घाट पर कोसी भरने से लेकर उगते सूर्य को अघ्र्य देने तक छठ व्रतियों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा, क्योंकि बारिश की वजह से ना तो कोसी पर दीप जल रहा था और ना ही अष्टयाम आदि के लिए हवन हो पा रहा था। सुबह 6 बजे बारिश बंद हुई जिसके बाद छठ व्रतियों ने अघ्र्य देना शुरू किया। शुक्रवार को व्रतियों ने बंदिशों और कोरोना संक्रमण के बीच भगवान सूर्य को अघ्र्य अर्पित किया था। व्रतियों की आस्था सभी बाधाओं पर भारी पड़ी थी।
--
5 डिग्री सेल्सियस की गिरावट संभव
अब शनिवार को मौसम विभाग की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि रविवार को तापमान में 5 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की जा सकती है। अगले सप्ताह से तापमान कम हो जाएगा।
--
पश्चिमी हवा राज्य में
मौसम विभाग ने बताया है कि पश्चिमी हवा राज्य की सीमा में प्रवेश कर चुकी हैं जिसकी वजह से तापमान में कमी दर्ज की जा रही है। शुक्रवार रात से ही ठंड लग रही है जो शनिवार सुबह तक जारी है। कोलकाता के अलावा पुरुलिया, बांकुड़ा, नदिया, उत्तर व दक्षिण 24 परगना तथा हावड़ा जिले में बारिश हुई है।

Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned