तीन माह तक जारी रहेंगी पाबंदियां !

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बोलीं-कोरोना का संक्रमण फिलहाल थमने वाला नहीं

दिए शार्ट ट्रम प्लान और पाबंदियों के संकेत

By: Rajendra Vyas

Updated: 12 May 2020, 11:06 PM IST

कोलकाता. करीब एक पखवाड़े बाद संवाददाताओं के साथ मुखातिब होते हुए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को संकेत दिए कि बंगाल में अभी कम से कम 3 महीने तक पाबंदियां जारी रहेंगी। एक दिन पहले सोमवार को मुख्यमंत्रियों की बैठक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ हुई है। इसके बाद ममता बनर्जी के इस बयान से साफ है कि पूरे देश में लॉकडाउन फिलहाल बहुत अधिक शिथिल पडऩे वाला नहीं है। ममता ने कहा कि अभी 3 महीने तक कोरोना का संक्रमण थमने वाला नहीं है। इसीलिए शार्ट ट्रम प्लान बनाना होगा। इससे पहले ममता पर लगातार आरोप लग रहे थे कि राज्यवासियों को संकट में छोड़कर वह एकांतवास में चली गई हैं।
रेड जोन अब ए, बी और सी
सीएम ने बताया कि सचिवालय में प्रशासन के शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक के बाद राज्य प्रशासन को उन्होंने 15 मई के भीतर कार्य योजना तैयार करने का निर्देश दिया है। रेड जोन यानी संक्रमण वाले इलाके को तीन भागों में बांटा जाएगा ए, बी और सी। जिन क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण सबसे ज्यादा है, उन्हें ए जोन में रखा जाएगा और वहां पूरी तरह से पाबंदी बरकरार रहेगी। बी और सी जोन में अगर लोग शारीरिक दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) का पालन करते हैं तो थोड़ी बहुत छूट मिल सकती है।
खुलेंगी खाने-पीने की दुकानें, चलेंगी बस-टैक्सी
मुख्यमंत्री ने बताया कि फिलहाल ज्वेलरी दुकान बंद रहेंगी। खाने-पीने की दुकानें खुलेंगी। दोपहर 12 से शाम 6 बजे कर लोगों को खाना लेकर चले जाना होगा। जो ग्रीन जोन यानी ऐसे इलाके हैं जहां कोरोना का बिल्कुल संक्रमण नहीं है वहां बस और टैक्सी चल सकती है। बुधवार को राज्य के परिवहन मंत्री शुभेंदु अधिकारी बैठक करेंगे जिसके बाद यात्री परिवहन के बारे में अंतिम निर्णय लिया जाएगा।
एक लाख को वापस लाया
ममता ने दावा किया कि पश्चिम बंगाल के एक लाख नागरिक मंगलवार को वापस आए। उन्होंने कहा कि 90 हजार लोग बसों के जरिए बंगाल पहुंचे हैं। इनके रहने खाने और अन्य सुविधाएं सरकार सुनिश्चित करेगी। सीएम ने बताया कि इसके लिए उन्होंने जिलाधिकारियों को निर्देश दिया है।
प्रवासी श्रमिकों को रोजगार
मुख्यमंत्री ने बताया कि कोरोना की वजह से देश के दूसरे राज्यों में फंसने के बाद बंगाल लौट रहे लोगों को रोजगार की व्यवस्था भी सरकार की ओर से की जाएगी। मूल रूप से 100 दिनों के रोजगार योजना के तहत श्रमिकों को काम दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि मुश्किल के समय में बंगाल सभी का ख्याल रखना जानता है।
किसानों को विशेष मदद
ममता ने दावा किया कि उनकी सरकार ने संकट की इस घड़ी में किसानों को विशेष तौर पर मदद की है। ममता ने दावा किया कि राज्य सरकार ने 11 लाख किसान क्रेडिट कार्ड को अनुमति दी है जिसके जरिए खेती-बाड़ी में सुविधाएं होंगी।

Corona virus
Rajendra Vyas Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned