सुख-सुविधा से ज्यादा जरूरी हो गई है सुरक्षा

- महिला मुख्यमंत्री से सुरक्षा की मांग करतीं महिलाएं

By: Vanita Jharkhandi

Updated: 08 Dec 2019, 04:14 PM IST


कोलकाता

बलात्कार और यौन अपराधों में बढ़ोतरी हो रही है। घर से बाहर निकलते वक्त महिलाएं डर रही हैं और गलत काम करने वाले निडर घूम रहे है। सुख-सुविधाओं से सुरक्षा अधिक जरूरी हो गई है। पत्रिका से बातचीत में समाज की महिलाओं ने कहा कि वे राज्य की महिला मुख्यमंत्री से सुरक्षा की चाह रखती हैं।
पुलिस को कड़ाई बरतने कहें

महिलाओं के खिलाफ अपराध करने वालों के खिलाफ सख्त और त्वरित सजा की व्यवस्था होनी चाहिए। ऐसा करने वाले जमानत पर छूटकर फिर वैसे ही घिनौनी हरकत न कर सकें। उन्हें सार्वजनिक रूप से सजा दी जाए। राज्य की महिला मुख्यमंत्री महिलाओं की सुरक्षा पर ही कड़ी निगाह रखें और पुलिस को भी इसके लिए कड़ाई बरतने कहें।

ेराधा सोमानी, सीकर नागरिक परिषद सदस्य
------------

सुरक्षा जरूरी

जिस तरह से एक असुरक्षा का भाव पैदा हो रहा है, खौफ देखा जा रहा है उससे निजात चाहते हैं। हम चाहते है कि सुख या सुविधा थोड़ी भले ही कम हो जाए पर घर से बाहर और अन्दर महिलाएं, बच्चियों को सुरक्षा मिले इसी का अनुरोध करते हैं।

सुषमा सिंह, हावड़ा, गृहणी
--------------

महिला ही महिला का दर्द महसूस कर सकती है। घर की बेटी को कुछ होता है तो जैसी तकलीफ होती है वैसा ही सभी लड़कियों के दर्द के साथ होना चाहिए। राज्य में महिलाएं नौकरी कर रही है, बाहर रहती हैं। राज्य की मुख्यमंत्री को महिला सुरक्षा को लेकर गम्भीरता बरतनी चाहिए। सुरक्षा व्यवस्था कड़ी होनी चाहिए।
- मंजूश्री गुप्ता, अध्यक्ष, अखिल भारतीय मारवाड़ी महिला समिति

----------
बाहर रहें तो घरवाले चिन्ता में रहते हैं

महिला सुरक्षा मुख्य मुद्दा होना चाहिए। जिस राज्य में महिला ही असुरक्षित हो वह राज्य कितना भी विकसित क्यों न हो उसका महत्व नहीं है। लड़की या हम बाहर रहते है तो पति चिन्ता में रहते है। यह स्थिति को क्या कहा जाएगा। लगातार ऐसी घटनाएं बढ़ रही है। महिला मुख्यमंत्री से उम्मीद करते है कि इस विषय में संवेदनशील होंगी और सुरक्षा व्यवस्था बढ़ाएंगी।
किरण अग्रवाल, चेयरमैन, उड़ान संस्था

--------
महिलाओं के दर्द समझेंगी मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री महिला हैं तो हमारी उनसे अपेक्षा है कि वे महिलाओं का दर्द समझेंगी। बंगाल में महिलाओं पर बंदिश नहीं रही है वे नौकरी कर रही है, बिजनेस कर रही हैं ऐसे में बढ़ रहे यौन शोषण के मामले पर कैसे अंकुश लगाना चाहिए यह उन्हें सोचना चाहिए। सुविधा कम कर दें पर सुरक्षा को बढ़ाएं जहां महिला निडर होकर पढऩे जा सकें, नौकरी पर जा सके।
सुप्रिया सिंह, लॉयन्स कल्ब इंटरनेशनल

-----------
महिलाएं रहें सुरक्षित

सुरक्षा चाहे देश की हो या फिर नारी की कही भी समझौता नहीं होना चाहिए। हम लंदन नहीं चाहते हैं, महिलाओं को सुरक्षित देखना चाहते हैं। महिला होने के नाते शायद मुख्यमंत्री से भी निवेदन करना चाहते हैं कि वे इस पर गम्भीरता से एक्शन ले। कुछ खर्च कम करने पड़े तो करें पर महिला सुरक्षा को लेकर खिलवाड़ न किया जाए।
- सावित्री रावत, गृहणी

Vanita Jharkhandi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned