शाह की दीदी को चुनौती, नहीं रोक पाएंगी सीएए

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह रविवार को सीएम ममता बनर्जी के गढ़ कोलकाता में खूब गरजे। उन्होंने महानगर के शहीद मीनार मैदान में एक बड़ी रैली को संबोधित करते हुए दावा किया कि 2021 में होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव में दो तिहाई बहुमत के साथ भाजपा सरकार बनाएगी। उन्होंने संशोधित नागगिरकता कानून (सीएए), कश्‍मीर, राम मंदिर, के बहाने ममता बनर्जी पर जमकर हमला बोला।

By: Rabindra Rai

Updated: 01 Mar 2020, 04:38 PM IST

कोलकाता. केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह रविवार को सीएम ममता बनर्जी के गढ़ कोलकाता में खूब गरजे। उन्होंने महानगर के शहीद मीनार मैदान में एक बड़ी रैली को संबोधित करते हुए दावा किया कि 2021 में होने वाले राज्य विधानसभा चुनाव में दो तिहाई बहुमत के साथ भाजपा सरकार बनाएगी। उन्होंने संशोधित नागगिरकता कानून (सीएए), कश्‍मीर, राम मंदिर, के बहाने ममता बनर्जी पर जमकर हमला बोला। अमित शाह ने कहा कि देश के बनाए सीएए का तृणमूल प्रमुख विरोध कर रही हैं लेकिन हम किसी भी कीमत पर इस कानून से पीछे नहीं हटेंगे। उन्‍होंने वादा किया कि अगली सरकार भाजपा के बनते ही पांच सालों में सोनार बांग्ला बनाएंगे। साथ ही शाह ने और नहीं अत्याचार नामक अभियान की शुरुआत की और कहा कि यह नारा पश्चिम बंगाल में सरकार पलटने का नारा है।
--
अल्‍पसंख्‍यकों में भय पैदा कर रहीं ममता
सीएए के समर्थन में आयोजित रैली में शाह ने कहा कि ममता बनर्जी जब विपक्ष में थीं तो उन्‍होंने शरणार्थियों के लिए नागरिकता का मुद्दा उठाया था। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सीएए ले आए तो वह एकबार फिर से कांग्रेस और वामपंथियों के साथ विरोध में खड़ी हैं। ममता बनर्जी अल्‍पसंख्‍यकों में भय पैदा कर रही हैं कि वे अपनी नागरिकता खो देंगे। मैं अल्‍पसंख्‍यक समुदाय के सभी लोगों को आश्‍वासन देता हूं कि सीएए केवल नागरिकता देगा और किसी से यह वापस नहीं लेगा। यह किसी भी तरह से आपको प्रभावित नहीं करेगा।
--
यह रैली तृणमूल के गुंडों के खिलाफ
केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान बंगाल में जब प्रचार करने आए थे तो हमें प्रचार नहीं करने दिया गया। ममता दीदी कहती थीं, जमानत बचा लेना। हम पर गोलियां चलाई गईं, हेलिकॉप्‍टर नहीं उतरने दिया गया। 40 से अधिक कार्यकर्ताओं की जान चली गई। ममता दीदी यह करके आप रोक पाई क्‍या। आप जो करना चाहती हैं, कर लीजिए। आपका रवैया जनता समझ चुकी है। यह रैली ममता और उनकी पार्टी के गुंडों के खिलाफ रैली है।
--
पूर्ण बहुमत के साथ बनेगी सरकार
उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी ये आंकड़े देख लीजिए, अब आने वाले विधानसभा चुनाव में भी पूर्ण बहुमत के साथ बीजेपी की सरकार बंगाल में बनने वाली है। वर्ष 2014 में बीजेपी को 87 लाख वोट मिले और वर्ष 2019 में यह संख्‍या बढ़कर 2.3 करोड़ हो गई। राज्‍य से 18 बीजेपी सांसद चुने गए हैं। उन्‍होंने कहा कि यह यात्रा पश्चिम बंगाल के गरीबों के शोषण के खिलाफ संघर्ष की है। यह यात्रा सिंडीकेट को समाप्त करने की यात्रा है। यह यात्रा तोलाबाजी समाप्त करने की यात्रा है। यह यात्रा घुसपैठ समाप्त करने की है। यह यात्रा करोड़ों शरणार्थियों को नागरिकता देकर सम्मान देने की है।
--
शरणार्थियों को देंगे नागरिकता
शाह ने कहा कि ममता दीदी ने सीएए का भारी विरोध किया। बंगाल में दंगे कराए, ट्रेनें जला दी गई, रेलवे स्टेशन जला दिया गया। मैं सवाल पूछने आया हूं कि हम नागरिकता देना चाहते हैं और आप इसका विरोध क्यों कर रही हो। आपको घुसपैठिए ही अपने लगते हैं। मैं बताने आया हूं कि 70 साल से जो शरणार्थी यहां आए हैं हम उनको नागरिकता देकर रहेंगे।
--
राम मंदिर बनने की राह में ये थे रोड़ा
उन्होंने कहा कि अयोध्या में जहां प्रभु श्रीराम का जन्म हुआ वहां भव्य मंदिर बनाने के लिए हम 500 साल से लड़ रहे थे। अब पीएम नरेंद्र मोदी ने अयोध्या में राम मंदिर को तीर्थ स्थल बनाने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस, सपा, बसपा और ममता राम मंदिर बनने के बीच में रोड़ा बने थे। आपने मोदी को ताकत दी और कुछ ही महीनों में आसमान को छूने वाला भव्य राम मंदिर बनने वाला है।
--
बंगाल में बच्चा जन्म लेते ही 40 हजार का कर्ज लेता
उन्होंने कहा कि ममता दीदी के विरोध के चलते 6 हजार रुपए से बंगाल के गरीब किसान वंचित हो रहे हैं। केंद्र सरकार राज्य के गरीब किसानों तक पहुंचाने के लिए यह राशि प्रदान करती है। आप गरीब किसानों को क्यों परेशान कर रहे हैं ? बंगाल पर 3.75 लाख करोड़ रुपए का कर्ज है। कम्युनिस्ट सरकार ने 1.92 लाख करोड़ रुपए का कर्ज छोड़ा था और ममता दी ने इसे और भी बड़ा बना दिया है। बंगाल का हर बच्चा जन्म लेते ही 40 हजार रुपए का कर्ज लेता है।
--
पांच साल में सोनार बांग्ला में बदल देंगे
उन्होंने कहा कि ममता दीदी की सरकार पीएम मोदी को पश्चिम बंगाल को विकसित करने की अनुमति नहीं दे रही है। आपने कम्युनिस्टों को 34 साल तक और ममता दीदी को 10 साल तक मौका दिया। क्या उन्होंने राज्य का विकास किया? नहीं। हमें पांच साल दीजिए, हम बंगाल को सोनार बांग्ला में बदल देंगे।

Amit Shah CAA
Rabindra Rai Editorial Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned