scriptShah will try to bring the divided BJP on one track | धड़ों में बंटी भाजपा को एक जाजम पर लाने का प्रयास करेंगे शाह | Patrika News

धड़ों में बंटी भाजपा को एक जाजम पर लाने का प्रयास करेंगे शाह

  • भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि शाह के दौरे का मुख्य उद्देश्य आधिकारिक कार्यक्रमों में शामिल होना है, लेकिन वे राज्य के पार्टी नेताओं के साथ बैठक भी करेंगे

कोलकाता

Published: May 01, 2022 09:20:55 pm

कोलकाता. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह तीन दिन के लिए पश्चिम बंगाल का दौरा करेंगे। समझा जाता है कि शाह बंगाल के दौरे के दौरान गुटों मे बंटी भाजपा में गुटबाजी को खत्म करने का प्रयास करेंगे।
amit_shah_03_1.jpg
वे 4 मई की रात को कोलकाता पहुंचेंगे। वे पांच मई को उत्तर 24 परगना जिले के हिंगलगंज जाएंगे और सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के एक कार्यक्रम में शामिल होंगे।

वहां से वे उत्तर बंगाल के दार्जिलिंग जिले के सिलीगुड़ी जाएंगे और रेलवे इंस्टीट्यूट ग्राउंड में एक जनसभा को संबोधित करेंगे।
5 मई को दार्जिलिंग में स्थित विभिन्न राजनीतिक और गैर- राजनीतिक संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ गृह मंत्री की बैठक होने की भी संभावना है।


लोकसभा चुनाव अहम
प्रदेश भाजपा के एक नेता ने कहा कि 2024 के लोकसभा चुनावों में 2019 में जीती गई 18 लोकसभा सीटों को बरकरार रखना पार्टी के लिए महत्वपूर्ण है। मौजूदा स्थिति बहुत गंभीर है।
हमें उम्मीद है कि शाह हमें एक निश्चित संदेश देंगे। राज्य में संगठनात्मक ढांचे और कामकाज को कैसे बेहतर बनाया जाए।

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि शाह के दौरे का मुख्य उद्देश्य आधिकारिक कार्यक्रमों में शामिल होना है, लेकिन वे राज्य के पार्टी नेताओं के साथ बैठक भी करेंगे।

पार्टी नेताओं संग करेंगे बैठक
वे 6 मई को उत्तर बंगाल के कूचबिहार जिले में जाएंगे और तीनबीघा में एक सरकारी कार्यक्रम में शामिल होंगे। वे 6 मई की दोपहर को कोलकाता लौटेंगे और उम्मीद है कि वे राज्य के शीर्ष भाजपा नेताओं के साथ बैठक करेंगे और फिर उसी दिन वापस दिल्ली के लिए उड़ान भरेंगे।
चुनाव बाद पहला दौरा
2021 के पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों में पार्टी की हार के बाद शाह का राज्य का यह पहला दौरा होगा। तब से उपचुनावों और नगर निगम तथा स्थानीय निकाय चुनावों में पार्टी का प्रदर्शन दयनीय रहा है।
पार्टी आसनसोल लोकसभा सीट के लिए उपचुनाव भी हार गई, जिसे पार्टी ने 2019 में लगभग दो लाख मतों के अंतर से जीता था।

तृणमूल की चुटकी
दूसरी ओर तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता कुणाल घोष ने शाह के दौरे पर चुटकी लेते हुए कहा कि 2021 के विधानसभा चुनावों में भाजपा के 200 से अधिक सीटें लाने का सपना चकनाचूर होने के बाद शाह का राज्य का पहला दौरा होगा। उन्हें एक कठिन काम करना है क्योंकि वे गुटबाजी से जूझ रहे पार्टी नेताओं से मुलाकात करेंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.