कर्म में नैतिकता, प्रमाणिकता दिखाएं: आचार्य महाश्रवण

कर्म में नैतिकता, प्रमाणिकता दिखाएं: आचार्य महाश्रवण
kolkata news

Shankar Sharma | Publish: Jun, 20 2017 11:34:00 PM (IST) Kolkata, West Bengal, India

राजस्थान से अहिंसा यात्रा पर निकले आचार्य महाश्रवण ने मंगलवार को अपने भक्तों को सम्यक नैतिक, सम्यक आचरण और सम्यक दर्शन को अपने जीवन में आत्मसात करने का संदेश दिया

कोलकाता. राजस्थान से अहिंसा यात्रा पर निकले आचार्य महाश्रवण ने मंगलवार को अपने भक्तों को सम्यक नैतिक, सम्यक आचरण और सम्यक दर्शन को अपने जीवन में आत्मसात करने का संदेश दिया।

उन्होंने कहा कि मनुष्य को धर्म के आधार पर काम करना चाहिए और अपने काम में नैतिकता और प्रमाणिकता दिखानी चाहिए। इसमें ही मानव जीवन का कल्याण है। आचार्य महाश्रमण इस दिन न्यूअलीपुर में न्यूअलीपुर तेरापंथ श्रावकगण की ओर से आयोजित कार्यक्रम में भक्तों को संबोधित कर रहे थे।

इस मौके पर डॉ. सुभाष दुगड़, धर्मचन्दर धाड़ेवे और बसंत पारख उपस्थित थे। इससे पहले इस दिन दोपहर 12.30 बजे न्यू अलीपुर तेरापंथ श्रावकगण ने आचार्य महाश्रमण का अभिनन्दन किया। इसके बाद अलीपुर से उनकी अहिंसा यात्रा शुरु हुई, जो न्यू अलीपुर जा कर समाप्त हो गई। यात्रा में राज्य के युवा कल्याण मंत्री अरुप विश्वास और स्वरुप विश्वास सहित सैकड़ों लोग शामिल हुए। आचार्य महाश्रमण के अभिनंदन करने के दौरान डॉ. सुभाष दुगड़ ने जय जय ज्योति चरण, जय जय महाश्रमण पर प्रकाश डाला।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned