फिर शुरू होगा सिलीगुड़ी-सियालदह रेलवे रूट

फिर शुरू होगा सिलीगुड़ी-सियालदह रेलवे रूट

Ashutosh Kumar Singh | Publish: Dec, 08 2018 11:01:47 PM (IST) | Updated: Dec, 08 2018 11:01:48 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

- बांग्लादेश से होकर फिलहाल गुजरेंगी मालगाडिय़ां

- यात्री ट्रेन सेवा शुरू होते ही 11 की बजाय 7 घंटे का लगेगा समय

कोलकाता

भारतीय रेलवे वर्ष 2021 तक सिलीगुड़ी-सियालदह रूट फिर से शुरु करने पर विचार कर रही है। बांग्लादेश के कुछ क्षेत्रों से गुजरने वाले रूट से शुरू में मालगाडिय़ों की आवाजाही शुरू की जाएगी। हालांकि फिलहाल इस रूट से यात्री ट्रेनें चलाने की कोई योजना नहीं है, लेकिन रेलवे के अधिकारी भविष्य में इस रूट से यात्री ट्रेन के परिचालन की संभावना से इनकार नहीं कर रहे हैं। अगर इस रूट से यात्री ट्रेनें सेवा शुरू की गई तो सियालदह से सिलीगुड़ी का सफर तय करने में 11 घंटे की जगह महज 7 घंटे का समय लगेगा। रेलवे ने बुनियादी ढांचे के लिए 11 करोड़ रुपए आवंटित किया है। इससे पहले भी रेल विभाग की तरफ से 31 करोड़ रुपए आवंटित किए जा चुके हैं। जलपाईगुड़ी के एडीआरएम प्रीतम रॉय ने कहा कि इस प्रोजेक्ट को 2021 तक पूरा करने का लक्ष्य है। इस साल मार्च में न्यू जलपाईगुड़ी से एक इंजन का संचालन इस रूट पर किया गया था।

------
200 किलोमीटर कम हो जाएगी दूरी

रेल विभाग के अनुसार उक्त रूट के शुरू होने से सिलीगुड़ी और सियालदह के बीच की दूरी 200 किमी कम हो जाएगी। इस रूट पर ट्रेन बांग्लादेश पेट्रापोल-बेनापोल बॉर्डर से होकर गुजरेगी। सिलीगुड़ी से चलने वाली ट्रेन चिलहटी, दोमार, सईदपुर, दर्शना और पर्बतीपुर होते हुए सियालदह पहुंचेगी।
----

1965 में बंद किया गया था रूट
पहले इस रूट से ट्रेनें चलती थीं। भारत-पाकिस्तान के बीच युद्ध के चलते साल 1965 में इस रुट को बंद कर दिया गया था।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned