रैंगिग रोकने को सीयू की विशेष पहल

VANITAI JHARKHAND

Publish: Apr, 17 2018 06:34:56 PM (IST)

Kolkata, West Bengal, India
रैंगिग रोकने को सीयू की विशेष पहल

- प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों का होस्टल होगा अलग

- 16 होस्टलों में फुट टाइम अधीक्षक रखे जाएंगे

- प्रथम वर्ष के छात्रों के लिए अलग होस्टल की व्यवस्था

- दो विद्यार्थियों को किया शो कॉज

- विद्यार्थी बिना कॉलेज में उपस्थित रहे परीक्षा में बैठने के लिए आन्दोलन करते हैं यह अनैतिक
कोलकाता . कोलकाता विश्वविद्यालय रैंगिग रोकने के लिए विशेष कदम उठा रहा है जिससे विद्यार्थी निर्भय होकर पढ़ाई कर सकेें। विश्वविद्यालय की उपकुलपति सोनाली चक्रवर्ती बंद्योपाध्याय ने इस संबंध में सोमवार को कहा कि विद्यार्थी रैंगिग के तनाव से मुक्त होकर पढ़ाई कर सकें, इसके लिए 16 होस्टलों में फुट टाइम अधीक्षक रखे जाएंगे। इन अधीक्षकों की निगाहें 24 घंटे विद्यार्थियों पर रहेगी। रैंगिग न हो इस पर वे नजर रखेंगे। सोनाली चक्रवर्ती बंद्योपाध्याय ने कहा कि प्रथम वर्ष के छात्रों के लिए अलग होस्टल की व्यवस्था की जाएगी। जिनमें सिर्फ प्रथम वर्ष के विद्यार्थी ही रहेंगे। सीनियरों के नहीं होने से रैंगिग की घटना नहीं होगी। इसको आसानी से रोकी जा सकेगी। इसके लिए न्यू लॉ कॉलेज होस्टल का चुनाव किया गया है। इसमें रहने वाले द्वितीय वर्ष के छात्रों को होस्टल खाली करना पड़ेगा। इसके अतिरिक्त विश्वविद्याल में किसी भी प्रकार का नशा करने पर मनाही होगी। विश्वविद्यालय के होस्टल में सिर्फ बोडर ही रहेंगे। दूसरों को अनुमति नहीं होगी।

दो विद्यार्थियों को किया शो कॉज

कुछ दिनों पहले राजाबाजार साइंस कॉलेज के टेक्नोलॉजी विभाग के विद्यार्थियों ने प्लेसमेंट की मांग को लेकर रात 12 बजे रात तक घेराव किया था। इस बारे में उपकुलपति सोनाली चक्रवर्ती बंद्योपाध्याय ने बताया कि डीन टेक्नोलॉजी व ज्वाइंट डिप्टी रजिस्ट्रार ने इस बारे में पत्र लिखकर जानकारी दी थी। इस सिलसिले में दो छात्रों को शो-कॉज किया गया है। उन्होंने इस बात पर रोष जताया है कि विद्यार्थी बिना कॉलेज में उपस्थित रहे परीक्षा में बैठने के लिए आन्दोलन करते हैं यह अनैतिक है। कॉलेज मेें निर्दिष्ट उपस्थिति जरूरी है। पढ़ाई के लिए स्वस्थ परिवेश की आवश्यकता है।

Ad Block is Banned