राज्य चुनाव आयोग ने पुलिस से मांगी अपराधियों और भगोड़ों की सूची


- चुनाव में ऐसे लोग कर सकते हैं गडबड़ी

By: Renu Singh

Published: 17 Jan 2021, 09:18 AM IST

कोलकाता
राज्य में आसन्न विधानसभा की तैयारियाँ जोरों पर हैं। चुनाव में आपराधिक तत्व किसी की प्रकार की गड़बड़ी न करें इसलिए राज्य उपचुनाव आयुक्त सुदीप जैन ने गैर-जमानती गिरफ्तारी वारंट के निष्पादन को लेकर पुलिस के साथ बैठक में नाराजगी व्यक्त की।आयोग ने कोलकाता पुलिस क्षेत्र में गैर-जमानती गिरफ्तारी वारंट के साथ भगोड़े अभियुक्तों के बारे में विस्तृत जानकारी मांगी है। इसके अलावा कोलकाता पुलिस को आपराधिक तत्वों के नाम की सूची तैयार करके उनकी वर्तमान स्थिति डाटा डेटा मांगा है। लालबाजार के सूत्रों के अनुसार, चुनाव आयोग ने ऐसे भगोड़े लोगों की सूची मांगी है जिनके खिलाफ गैर-जमानती गिरफ्तारी वारंट हैं। कोलकाता पुलिस स्टेशनों को हर हफ्ते आयोग को रिपोर्ट में यह भी उल्लेख किया गया है कि उस सप्ताह कितने लोगों को गैर-जमानती धारा के तहत गिरफ्तार किया गया और कितने बच गए। चुनाव आयोग द्वारा भेजे गए नए दिशानिर्देशों में साप्ताहिक रिपोर्ट के साथ गैर-जमानती लेख शामिल हैं। पुलिस सूत्रों के अनुसार आयोग यह जानना चाहता है कि गैर-जमानती धारा के आरोपी क्या दोषी हैं। ताकि एक कार दुर्घटना के आरोपी चालक और हत्या के एक भगोड़े आरोपी या दागी दुष्कर्म के बीच के अंतर को समझा जा सके।

Renu Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned