किराए पर फ्लैट देना बंद हो


- न्यूटाउन इनकाउंटर से लोगों में भय का माहौल
- सोशल मीडिया में भी जमकर हो रही है चर्चा

By: Vanita Jharkhandi

Published: 11 Jun 2021, 07:03 PM IST


न्यूटाउन.
सापूरजी के इस न्यूटाउन में 20 हजार लोग रहते हैं। इसके अतिरिक्त काम करने और मिलने वालों की संख्या और भी बढ़ा देती है। ऐसे में एक दूसरे के बीच की पहचान सम्भव नहीं है। अपराधी प्रवृत्ति के लोगों के रहने के लिए काफी अच्छी जगह है। दिन दहाड़े इनकाउंटर से लोगों भयभीत हो गए हैं। ऐसे लोगों ने शोशल मीडिया में भी इस मुद्दे को लेकर काफी सारी बातें शेयर की है। लोगों ने काफी सारी समस्याएं भी रखी है।

रहना है सुरक्षित तो बन्द हो किराए पर फ्लेट देना
न्यू टाउन के रहने वाली अनुशिला दत्त ने कहा कि हमें एक बार सोचना होगा कि ऐसी घटना का सामना दुबारा न हो। ऐसे में सभी को आसपास वालों के साथ अच्छे संबंध बनाने की जरुरत है। ऐसे में अनजान को कभी भी किराए पर घर न दें। ताप्ती गुप्त का कहना है इतने बड़े आवासन को पूरी तरह से सीसीटीवी कैमरा लगा होना चाहिए। श्रेयोश्री कुंडू का कहना है कि जो भी रह रहे हैं उनकी पूरी जानकारी पुलिस को देनी चाहिए।

न्यूटाउन फोरम ने मांगी राय
फोरम की ओर से सुख बीस्टी के रहने वालों से सोशल मीडिया पर राय मांगी है। साथ ही यह भी कहा है कि वहां पर रहने वाले संदेहास्पद कुछ भी दिखे तो पुलिस को सूचना दें।


मुख्य समस्या
-यहां पर अधिकांश लोगों ने फ्लेट लिया तो है पर रहते नहीं है।
- कुछ लोग अच्छे कीमत मिलने से बेच देते हैं या फिर किराए पर लेते हैं
- ऐसा भी देखा गया है किरदार खुद न रह कर दूसरे को रहने को दे देता है जिसकी जानकारी किसी को नहीं होती।
- 150 एकड़ में फैले इस आवासन में प्राप्त सीसी टीवी नहीं है जिससे हर बिल्डिंग में आने-जाने और रहने वालों की जानकारी नहीं मिल पाती है।

सुझाव
1.शत प्रतिशत क्षेत्र को कवर करने के लिए सीसीटीवी
2. ऐप और आईडी के साथ फोटो का उपयोग करके प्रवेश-निकास का रखा जाए रिकॉर्ड
3. किरायेदार सूचना डेटाबेस और अनुबंध प्रतिलिपि स्टोर
4. सुरक्षा और हाउसकीपिंग स्टाफ का प्रशिक्षण
5. पेशेवर और प्रतिष्ठित रखरखाव कंपनी
6.मॉकड्रिल
7.अनजान को न दे किराए पर फ्लेट
8. अनजान लोगों पर रखी जाए नजर
9.फ्लेट आनर एसोशिएशन बनाया जाए

Vanita Jharkhandi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned