‘....ये देश है तुम्हारा, नेता तुम्हीं हो कल के’

‘....ये देश है तुम्हारा, नेता तुम्हीं हो कल के’

Shishir Sharan Rahi | Publish: Aug, 03 2018 10:49:18 PM (IST) Kolkata, West Bengal, India

पश्चिम बंगीय मारवाड़ी सम्मेलन शिक्षा कोष का 32वां स्टाइपेंड वितरण समारोह
---राजभवन में राज्यपाल ने छात्र-छात्राओं को दिए चेक
----परिवर्तन के पीछे की शक्ति शिक्षा को बताया


कोलकाता. इंसाफ की डगर पे, बच्चों दिखाओ चलके, ये देश है तुम्हारा, नेता तुम्हीं हो कल के.....गीत के साथ शुक्रवार को राजभवन में पश्चिम बंगीय मारवाड़ी सम्मेलन शिक्षा कोष का 32वां स्टाइपेंड (स्कूल फीस) वितरण समारोह हुआ। राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने बतौर मुख्य अतिथि छात्र-छात्राओं को चेक प्रदान करते हुए कहा कि परिवर्तन के पीछे की शक्ति शिक्षा होती है और विद्या मनुष्य को जीने की कला सिखाती है। पश्चिम बंगीय मारवाड़ी सम्मेलन शिक्षा कोष की ओर से इस तरह के समारोह की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि विद्या ही सभी मानवीय गुणों का कारण है, क्योंकि विद्या से विनयशीलता आती है। उन्होंने राजभवन में उपस्थित महानगर के विभिन्न स्कूलों के छात्र-छात्राओं और गणमान्य लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि देश की शिक्षा व्यवस्था में परिवर्तन आया है। महिला शिक्षा का विकास हो रहा है। समारोह का आगाज अग्रसेन बालिका शिक्षा सदन की छात्राओं ने गणपति वंदना से की। विशिष्ट अतिथि उद्योगपति व समाजसेवी श्यामसुंदर बेरिवाल ने कहा कि जरूरतमंदों को शिक्षा प्रदान करना और आर्थिक अभाव में कोई छात्र-छात्रा शिक्षा से वंचित न हो, यही इस समारोह के आयोजन का मकसद है। उन्होंने छात्र-छात्राओं को शिक्षा पर ज्यादा और फोन और सोशल मीडिया पर कम ध्यान देने पर जोर दिया। 92 स्कूलों के 1100 बच्चों को स्टाइपेंड के रूप में चेक दिए गए। अध्यक्ष ब्रह्मानंद अग्रवाला ने स्वागत भाषण दिया। पिछले 31 वषों से जरूरतमंद बच्चों की शिक्षा के लिए पश्चिम बंगीय मारवाड़ी सम्मेलन शिक्षा कोष के तहत आर्थिक मदद दी जा रही है। सचिव किशनलाल बजाज ने समाज कल्याण के नाम पर गलत स्थान पर पैसे न खर्च कर सही कार्यों में लगाने पर जोर दिया। ट्रस्टी विश्वनाथ केडिया ने ट्रस्ट की जानकारी दी। गेस्ट ऑफ ऑनर अशोक तोड़ी अस्वस्थ होने के कारण समारोह में नहीं आ सके और उनकी पुत्री नेहा तोड़ी ने उनके संदेश का वाचन किया। संयोजक कृष्णा कुमार लोहिया, ट्रस्टी रामनाथ झुनझुनवाला उपस्थित थे। संचालन महावीर प्रसाद रावत और धन्यवाद ज्ञापित विश्वम्भर नेवर ने किया।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned