ऐसा उम्मीदवार जो क्षेत्र में भी नहीं गया और जीत लिया लोकसभा चुनाव चुनाव

ऐसा उम्मीदवार जो क्षेत्र में भी नहीं गया और जीत लिया लोकसभा चुनाव चुनाव

Manoj Kumar Singh | Updated: 27 May 2019, 11:01:31 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

  • पीएम मोदी के टिप्स पर पति के लिए पत्नी ने मार ली मैदान

  • नवनिर्वाचित विष्णुपुर लोकसभा सांसद सोमित्र खान की पत्नी सुजाता ने कैसे किया कमाल

कोलकाता
लोकसभा चुनाव में देश भर के नेताओं ने चुनाव जीतने के लिए रैलियां, जुलूस, पदयात्राएं और जनसंपर्क अभियान सहित अन्य तरीके से जबरदश्त प्रचार किया। इसमें से कोई चुनाव जीता और किसी को हार का मुह देखना पड़ा, लोकिन पश्चिम बंगाल के बाकुड़ा जिला स्थित विष्णुपुर लोकसभा क्षेत्र के भाजपा उम्मीदवार सौमित्र खान की कहानी सबसे अलग है।
सोमित्र खान ने चुनाव जीतने के लिए कोई रैली, जुलूस, रोड शो और किसी राजनीतिक गतिविधयों में शामिल नहीं हए फिर भी जीत का सेहरा पहन लिया। उनके बदले में राजनीति से कोसो दूर उनकी घरेलू पत्नी सुजाता खान ने पूरा मोर्चा संभाला और पीएम मोदी से प्रेरित और उनसे टिप्स पा कर पूरा मैदान मार ली। उन्होंने अकेले ही तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार श्यामल सांत्रा को पछाड़ कर अपने पति को 76344 मतो से जीत दिलाई।
सुजाता ने कहा कि जब कलकत्ता हाई कोर्ट ने उनके पति के बाकुड़ा में प्रवेश पर रोक लगाया तो वे बहुत चिन्तित हो गई, क्योंकि उन्हें राजनीति का कोई अनुभव नहीं था। तृणमूल कांग्रेस शासित इलाके में रोड शो करने की चुनौतियों का सामना करने से हिचक रही थी।
फिर भी अपने कुछ समर्पित कार्यकर्ताओं के साथ उन्होंने चुनाव प्रचार शुरू किया। लेकिन 9 मई को प्रधानमंत्री मोदी से मिली तो पूरी स्थिति ही बदल गई और उन्हें राजनीतिक लड़ाई लडऩे के लिए मोदी से नैतिक शक्ति मिली।
सुजाता खान ने कहा कि 9 मई को जब विष्णुुुपुर में आयोजित रैली के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने उन्हें आर्शिवाद और कुछ टिप्स दिया, जिसके बदौलत उन्होंने समूचा मैदान मार लिया। उन्होंने कहा कि रैली में मिलते ही पीएम मोदी ने कहा कि आप बहुत बहादुर बेटी हैं। हमे सब कुछ मालूम है कि आप अपने पति सोमित्र खान की लड़ाई लड़ रही हैं। इस लड़ाई में हम सब आपके साथ हैं। आप ये मत समझिए कि आप अकेली हैं।
उन्होंने कहा कि पीएम मोदी में अवर्णनीय शक्ति है। उन्होंने आर्शिवाद और सुझाव देने के साथ ही उनका हौसला बुलंद करने के साथ ही उनमें आत्मविश्वास जगाया। पीएम मोदी से आर्शिवाद और प्रेरणा पा कर उन्हें उसी समय विश्वास हो गया था कि उनके पति सोमित्र खान चुनाव जीत रहे हैं।
उल्लेखनीय है कि कुछ लंबित मामलों की सुनवाई के दौरान कलकत्ता हाई कोर्ट ने मार्च 2019 में सोमित्र खान को बाकुड़ा जिले में प्रवेश पर रोक लगा दिया था। इस कारण तृणमूल कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुए सांसद सोमित्र खान अपने चुनाव क्षेत्र में चुनाव प्रचार करने नहीं जा सके। भाजपा में शामिल होने से पहले तृणमूल कांग्रेस ने उन्हें पार्टी से निलंबित कर दिया था।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned