तथागत रॉय का विजयवर्गीय पर तीखा कटाक्ष

- कहा, इन्हें भी तृणमूल कांग्रेस में ले जाओ

By: Krishna Das Parth

Published: 14 Jun 2021, 04:26 PM IST

kolkata
west bengal विधानसभा चुनाव में प्रत्याशित सीट नहीं मिलने के बाद से तृणमूल कांग्रेस से भाजपा में नेताओं की घर वापसी के बीच पार्टी के वरिष्ठ नेता तथागत रॉय ने पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय पर तीखा कटाक्ष किया। तृणमूल में शामिल मुकुल रॉय और विजयवर्गीय की दोस्ती पर तंज करते हुए उन्होंने 11 जून को भाजपा कार्यकर्ता दिवाकर देवनाथ की ओर से किए गए ट्वीट को रविवार को रीट्वीट किया है। जिसमें विजयवर्गीय को भी तृणमूल में ले जाने की बात कही गई है। तथागत रॉय ने इस दिन कहा कि वे पार्टी के प्रति वफादार एक भाजपा कार्यकर्ता के अंग्रेजी ट्वीट का अनुवाद कर रहे हैं। वे इसमें कुछ भी न जोड़ेंगे और न ही कुछ हटाएंगे। इससे पहले तथागत राय पार्टी के कई बड़े नेताओं को निशाने पर ले चुके हैं। भाजपा के राष्ट्रीय सचिव अनुपम हाजरा ने भी मुकुल रॉय के तृणमूल में जाने को लेकर विजयवर्गीय की कड़ी निंदा की थी। पार्टी के सूत्रों ने बताया कि मुकुल और विजयवर्गीय में गहरी दोस्ती थी। चुनाव से पहले मुकुल के कहने पर विजयवर्गीय ने तृणमूल के कई नेताओं को पार्टी में शामिल कराया था।
--------------
सत्ता के लोभियों को भाजपा से हटाएंंगे
mukul roy की तृणमूल कांग्रेस में वापसी के बाद पार्टी के खिलाफ बोलने वाले नेताओं पर सख्ती बरतने का संदेश देते हुए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने रविवार को सत्ता के लोभियों को पार्टी से निकालने की चेतावनी दी है। अपनी फेसबुक पोस्ट में कड़े अंदाज में घोष ने कहा कि दल बदलना कई लोगों की आदत बन गई है। भाजपा उन लोगों पर निर्भर है, जिन्होंने पार्टी को खून-पसीने से सींचा है। जो लोग सिर्फ सत्ता का आनंद लेना चाहते हैं, वे भाजपा में नहीं रह सकते। उन्हें पार्टी से निकाला जाएगा।
---------------
सुनिल सिंह की वापसी का विरोध
मुकुल रॉय की घर वापसी के बाद नोवापाड़ा के पूर्व विधायक सुनिल सिंह के भाजपा छोडक़र तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने की अटकलें तेज होने के साथ ही पार्टी के स्थानीय नेताओं ने उनका विरोध करना शुरु कर दिया है। तृणमूल कांग्रेस के गारुलिया टाउन के उपाध्यक्ष पंकज दास ने कहा कि खुद को मुकुल रॉय का अनुयाई बताकर सुनिल सिंह तृणमूल में शामिल होने की कोशिश कर रहे हैं। वे उनकी तृणमूल कांग्रेस में वापसी का विरोध करेंगे। इसके जवाब में भाजपा नेता सुनिल सिंह ने कहा कि उन्होंने मुकुल रॉय के तृणमूल में जाने से भाजपा पर प्रभाव पडऩे की बात कही थी, भाजपा छोडक़र तृणमूल कांग्रेस में जाने की बात नहीं कही है।
---------
बेसुरे हुए कई करीबी
मुकुल रॉय के करीबी कई भाजपा नेता बेसुरे होते दिख रहे हैं। बागदा विधानसभा से भाजपा विधायक बिश्वजीत दास और नोआपाड़ा के पूर्व विधायक सुनील सिंह के अलावा रविवार को इस सूची में कई और नाम जुड़ गये। जलपाईगुड़ी के भाजपा ट्रेडर सेल के कोअर्डिनेटर विश्वजीत गुहा, भाजपा एससी मोर्चा के नेता दुलाल बर ने भाजपा छोडऩे के संकेत दिए। ऐसे नेताओं की सूची मे राज्य के पूर्व मंत्री राजीव बनर्जी का नाम पहले से ही है।

Krishna Das Parth Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned