जवानों ने किया आइसोलेशन अवधि का अनोखा इस्तेमाल

क्वारंटीन में तकनीक और बचाव ऑपरेशन की ट्रेनिंग पूरी की

By: Rajendra Vyas

Published: 23 Sep 2020, 06:12 PM IST

कोलकाता. भारतीय वायु सेना के नियमों के अनुसार क्वारंटीन के नियमों को पूरा करने आए जवानों ने दार्जिलिंग में अपने आइसोलेशन अवधि का अनोखा इस्तेमाल किया। इन जवानों ने दार्जिलिंग में हाई एल्टीट्यूड सर्वाइवल तकनीक और बचाव ऑपरेशन की ट्रेनिंग पूरी की। ये ट्रेनिंग उसी हिमालयन माउंटेनियरिंग इंस्टीट्यूट में पूरी की गई, जहां पर इन जवानों को क्वारंटीन के लिए रखा गया था।
दरअसल, पश्चिम बंगाल के कुरसोंग में बने एयरफोर्स स्टेशन पर तैनात जवानों के लिए अनिवार्य क्वारंटीन का नियम बनाया गया है। इन जवानों को स्टेशन पर आने से पहले 14 दिन क्वारंटीन में रहना होता है। इसके लिए एयरफोर्स स्टेशन ने जो क्वारंटीन सेंटर ले रखा था, उसमें जवानों की संख्या अधिक होने के कारण कई जवानों को हिमालयन माउंटेनियरिंग इंस्टीट्यूट में क्वारंटीन किया गया।
सुबह योग, दिन भर ट्रेनिंग
इस दौरान हिमालयन माउंटेनियरिंग इंस्टीट्यूट के लोगों ने क्वारंटीन के समय को उपयोगी बनाने के लिए कुछ गतिविधियों की योजना बनाई। जवानों को सुबह पहले योग और कसरत कराई जाती थी और इसके बाद दिन भर इनकी ट्रेनिंग का काम कराया जाता था। इस ट्रेनिंग के दौरान सभी पूरी सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना प्रोटोकॉल का पालन भी करते थे।
सर्वाइवल तकनीक का भी प्रशिक्षण
हिमालयन माउंटेनियरिंग इंस्टीट्यूट के प्रिसिंपल ग्रुप कैप्टन जय किशन ने बताया कि जवानों के क्वारंटीन को उपयोगी बनाने के लिए इस सत्र का आयोजन हुआ। इस दौरान वायु सेना के जवानों को 10 हजार फीट की ऊंचाई पर सर्वाइवल तकनीक सिखाने के अलावा कई बड़ी चीजों की ट्रेनिंग दी गई। इस ट्रेनिंग को पूरा करने के बाद सभी जवानों को कुरसोंग के एयरफोर्स स्टेशन पर उनकी ड्यूटी के लिए भेज दिया गया।

Rajendra Vyas
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned