सांसद नुसरत विवाद में यह लेखिका कूदीं, इनका मिला समर्थन

सांसद नुसरत विवाद में यह लेखिका कूदीं, इनका मिला समर्थन
सांसद नुसरत विवाद में यह लेखिका कूदीं, इनका मिला समर्थन

Rabindra Rai | Updated: 08 Oct 2019, 07:21:53 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

तृणमूल कांग्रेस सांसद और बांग्‍ला फिल्‍मों की अभिनेत्री नुसरत जहां के दुर्गा पूजा में शामिल होने के बाद उपजे विवाद में अब विवादास्‍पद लेखिका भी कूद पड़ी है तो दूसरी तरफ राज्य के एक मंत्री तथा एक केंद्रीय मंत्री का उन्हें समर्थन मिला है।


कोलकाता. तृणमूल कांग्रेस सांसद और बांग्‍ला फिल्‍मों की अभिनेत्री नुसरत जहां के दुर्गा पूजा में शामिल होने के बाद उपजे विवाद में अब बांग्‍लादेश की विवादास्‍पद लेखिका तसलीमा नसरीन भी कूद पड़ी है तो दूसरी तरफ राज्य केएक मंत्री तथा एक केंद्रीय मंत्री का उन्हें समर्थन मिला है।
मुस्लिम कट्टरपंथियों के निशाने पर रहने वालीं तसलीमा ने कहा कि जब एक गैर मुस्लिम ममता बनर्जी हिजाब पहनती हैं तो मौलाना खुश होते हैं लेकिन जब एक मुस्लिम नुसरत जहां पूजा में शामिल होती हैं तो उन्‍हें दिक्‍कत होती है। पश्चिम बंगाल के मंत्री और कोलकाता के मेयर फिरहद हकीम ने सांसद नुसरत जहां का बचाव किया और कहा कि जो उन्हें सही लगता है उसे करने का उन्हें पूरा हक है।
--
गैर इस्‍लामिक कार्य बताते
तसलीमा नसरीन ने ट्वीट कर कहा कि जब एक गैर मुस्लिम ममता बनर्जी हिजाब पहनती हैं और अन्‍य मुसलमानों की तरह से ही अल्‍लाह से प्रार्थना करती हैं, तब मुस्लिम धर्मगुरु खुश होते हैं और इसे धर्मन‍िरपेक्ष कदम बताते हैं, लेकिन जब एक गैर हिंदू नुसरत जहां ए‍क हिंदू की तरह पूजा में डांस करती हैं और प्रार्थना करती हैं तो इससे मौलाना नाराज हो जाते हैं और इसे गैर इस्‍लामिक कार्य बता देते हैं।
--
नुसरत से ये हैं नाराज
नुसरत जहां के दुर्गा पूजा में शिरकत करने पर दारुल उलूम देवबंद के मौलाना नाराज हो गए हैं। एक मौलवी ने इसको लेकर उन पर निशाना साधा है। मौलवी ने कहा कि नुसरत जहां को अपना धर्म बदल लेना चाहिए। मौलवी ने कहा कि नुसरत जहां ने ऐसा पहली बार नहीं किया है। वह पहले भी ऐसे कार्यक्रमों में दिखती रही हैं। इस्लाम का जो हुक्म है उसके मुताबिक, अल्लाह के अलावा किसी और की पूजा करना ***** है। मौलवी ने कहा कि उन्हें अपना नाम और धर्म बदल लेना चाहिए। वह पहले ही गैर-मुसलमान से शादी कर चुकी हैं। इस्लाम को ऐसे लोगों की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है।
--
जारी कर चुका है फतवा
यह पहली बार नहीं है जब दारुल उलूम ने नुसरत जहां को लेकर अपनी नाराजगी जताई हो। इससे पहले जून महीने में नुसरत जहां के सिंदूर लगाने और मंगलसूत्र पहनने को लेकर भी देवबंद फतवा जारी कर चुका है। नुसरत के हिंदू शख्स से विवाह करने और मंगलसूत्र पहनने पर देवबंद ने ऐतराज जताया था। नुसरत जहां ने इसी साल कोलकाता के बिजनसमैन निखिल जैन से शादी की है।
--
पंडाल में अजान बजाने पर क्यों चुप हैंमौलाना
केंद्रीय महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री देवश्री चौधरी ने कहा कि सभी को निजी पसंद का सम्मान करना चाहिए। यह उनकी पसंद है और अपनी पसंद से किसी भी त्योहार में उन्हें हिस्सा लेने की स्वतंत्रता है। भारत में एक शादीशुदा महिला आमतौर पर अपने पति के धर्म का पालन करती है और हम सभी जानते हैं कि नुसरत की शादी निखिल जैन से हुई है। मंत्री ने कहा कि ये मौलाना कोलकाता में दुर्गा पूजा पंडाल में अजान बजाने पर क्यों चुप हैं? मंत्री ने पूछा कि क्या यह धार्मिक भावनाओं को आहत करने जैसा नहीं था।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned