महानगर से गंगासागर तक सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

प्रशासन ने गंगासागर मेले पर निगरानी के लिए मेगा कंट्रोल रूम खोलने का निर्णय लिया है। जिसका नियंत्रण राज्य सचिवालय नवान्न और दक्षिण 24 परगना जिला मुख्य

By: Prabha

Updated: 05 Jan 2018, 02:05 PM IST

महानगर से गंगासागर तक सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

- ड्रोन और होवरक्राफ्ट से मेले पर रखी जाएगी नजर

- राज्य पुलिस, नौसेना, तटरक्षक बल तथा एनडीआरएफ के जवान होंगे तैनात
कोलकाता

प्रशासन ने गंगासागर मेले पर निगरानी के लिए मेगा कंट्रोल रूम खोलने का निर्णय लिया है। जिसका नियंत्रण राज्य सचिवालय नवान्न और दक्षिण २४ परगना जिला मुख्यालय (अलीपुर) से किया जाएगा। मानव रहित यान ड्रोन और होवरक्राफ्ट के माध्यम से मेले पर नजर रखी जाएगी। राज्य पुलिस के अलावा नौसेना, तटरक्षक बल तथा एनडीआरएफ के जवान तैनात किए जा रहे हैं। प्रशासन के 150 से अधिक अधिकारी 24 घंटे कंट्रोल रूम में तैनात रहेंगे। मेला क्षेत्र, लॉट-8, कचूबेडिय़ा, नामखाना व चेमागुड़ी में करीब 40 से अधिक जाइंट स्क्रीन लगाए जा रहे हैं। जिस पर मेले से संबंधित सूचनाएं हिन्दी, बांग्ला और अंग्रेजी भाषा में प्रचारित की जाएगी। विभिन्न स्थानों पर 500 से अधिक सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं। डीसी स्तर के 89 अफसर, 214 इंस्पेक्टर स्तर के अधिकारी तथा 4000 से अधिक पुलिसकर्मी और 2000 होमगार्ड तैनात किए जा रहे हैं। इधर, कोलकाता के बाबूघाट पर श्रद्धालुओं का आवागमन शुरू हो गया है। कई श्रद्धालु गंगासागर रवाना हो चुके हैं।सागर तट पर जाने की तैयारी कर रहे हैं।

चुस्त जल व सड़क परिवहन व्यवस्था
प्रशासन ने गंगासागर मेले में भारी भीड़ जुटने के मद्देनजर परिवहन व्यवस्था चुस्त कर दी है। राज्य सरकार के विभिन्न परिवहन निगमों के करीब 1500 बसें, पश्चिम बंगाल भूतल परिवहन निगम के 16 वेसेल (बड़ा लांच), हुगली जलपथ परिवहन निगम के 14 लांच और सागर वाटर बोट एसोसिएशन के करीब 100 छोटे जहाज लॉट-8- कचूबेडिय़ा और नामखाना- चेमागुड़ी के बीच आवागमन करेगा।

एयर व वाटर एम्बुलेंस

गंगासागर मेले में पुण्यार्थियों की सेवा में स्वयंसेवी संगठनों के अलावा चिकित्सा व्यवस्था भी दुरुस्त की जा रही है। प्रशासन की ओर से पर्याप्त संख्या में एयर और वाटर एम्बुलेंस तैनात की जाएगी। इसके अलावा रुद्रनगर अस्पताल तथा गंगासागर प्राइमरी स्वास्थ्य केंद्र को प्रोन्नत किया गया है। ताकि मेले के दौरान पुण्यार्थियों के बीमार होने पर समुचित इलाज की व्यवस्था हो सके

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned