अभिषेक की पत्नी का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

-केन्द्र ने न्यायालय से कहा, पश्चिम बंगाल में है संस्थागत अराजकता, पूरी तरह से अव्यवस्था

By: Ashutosh Kumar Singh

Published: 29 Mar 2019, 10:32 PM IST

नयी दिल्ली/कोलकाता

कोलकाता के हवाईअड्डे से पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे व सांसद अभिषेक बनर्जी की पत्नी और सीमाशुल्क के अधिकारियों के बीच हुआ विवाद सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया है। स्थानीय पुलिस के कस्टम्स अधिकारियों को‘‘डराने-धमकाने’’ के मामले कोशुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में उठाते हुए केन्द्र ने आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल में ‘‘संस्थागत अराजकता’’ और ‘‘पूरी तरह से अव्यवस्था’’ व्याप्त है । राज्य की पुलिस सरकार के हाथ की कठपुतली बन गई है। कोलकाता के नेताजी सुभाष चंद्र बोस हवाईअड्डे की उक्त घटना इसका प्रत्यक्ष प्रमाण है। सीमा शुल्क के अधिकारियों को स्थानीय पुलिस ने ‘‘धमकाया और परेशान किया।’’
केन्द्र सरकार के आरोप सुनने के बाद प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता और न्यायमूर्ति संजीव खन्ना की पीठ ने सॉलीसिटर जनरल तुषार मेहता से इस संबंध में व्यवस्थित आवेदन दायर करने को कहा। पीठ ने मेहता से कहा ‘‘आपने इस घटना की तरफ हमारा ध्यान आकर्षित किया है। अब आप हमसे क्या अपेक्षा रखते हैं?’’ सॉलीसिटर जनरल ने जवाब दिया कि वे चाहते हैं कि संबंधित पुलिस अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज हो।

मेहता ने कहा कि सहायक सीमा शुल्क आयुक्त ने 22 मार्च को हवाई अड्डा थाने के प्रभारी निरीक्षक को एक पत्र लिखकर पश्चिम बंगाल पुलिस द्वारा हस्तक्षेप, बाधा पहुंचाने और धमकी देने के लिए प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध किया। पत्र में सीमाशुल्क आयुक्त ने घटना की पूरी जानकारी दी। अभिषेक पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के भतीजे हैं। मामले की उच्चस्तरीय जांच की जाए और दोषी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

Ashutosh Kumar Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned