scriptTrinamool Congress fears burglary in support of Murmu | मुर्मू के समर्थन में तृणमूल कांग्रेस को सेंधमारी का डर | Patrika News

मुर्मू के समर्थन में तृणमूल कांग्रेस को सेंधमारी का डर

एनडीए की राष्ट्रपति चुनाव की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू अगले शनिवार पश्चिम बंगाल आएंगी। इस दौरान वे विधानसभा में वोट मांगने आएंगी। वे स्पीकर बिमान बनर्जी से भी मिल सकती हैं। अब तृणमूल नेतृत्व को डर सता रहा है कि इस बार भी एनडीए कहीं पिछले राष्ट्रपति चुनाव की तरह सेंध न मार ले।

कोलकाता

Published: July 06, 2022 07:05:46 pm

एनडीए की राष्ट्रपति चुनाव की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू अगले शनिवार पश्चिम बंगाल आएंगी। इस दौरान वे विधानसभा में वोट मांगने आएंगी। वे स्पीकर बिमान बनर्जी से भी मिल सकती हैं। अब तृणमूल नेतृत्व को डर सता रहा है कि इस बार भी एनडीए कहीं पिछले राष्ट्रपति चुनाव की तरह सेंध न मार ले। इसलिए चुनाव से पहले तृणमूल सभी विधायकों व सांसदों को लेकर एक प्रशिक्षण शिविर आयोजित करना चाहती है। पिछले राष्ट्रपति चुनाव में तृणमूल कांग्रेस, वाममोर्चा और कांग्रेस के 13 वोट रामनाथ कोविंद को मिल गए थे। जबकि इनमें से 10 वोट यूपीए की उम्मीदवार मीरा कुमार को मिलने चाहिए थे। तृणमूल के विधायकों व सांसदों के सभी वोट विपक्षी उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को ही मिले, इसको सुनिश्चित करने के लिए तृणमूल नेतृत्व यह प्रशिक्षण शिविर का आयोजन करना चाहती है। पार्टी हाईकमान की हरी झंडी मिलते ही विधानसभा में प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जाएगा। राष्ट्रपति चुनाव 18 जुलाई को है।
मुर्मू के समर्थन में तृणमूल कांग्रेस को सेंधमारी का डर
द्रोपदी मुर्मू यशवंत सिन्हा
तृणमूल के 221 विधायक

पश्चिम बंगाल विधानसभा में तृणमूल के विधायकों की संख्या 216 है। भाजपा के पांच और विधायक तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए हैं। इनको लेकर तृणमूल के कुल 221 विधायक हो गए हैं। तृणमूल परिषद पार्टी सूत्रों के अनुसार पहली बार जीतने वाले विधायकों के लिए प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जा सकता है।
विधानसभा के नौशर अली कक्ष में होगा प्रशिक्षण

तृणमूल परिषद के मुख्य सचेतक निर्मल घोष ने कहा कि पार्टी द्वारा निर्देश मिलते ही प्रशिक्षण शिविर का दिन तय कर दिया जाएगा। प्रशिक्षण शिविर विधानसभा के नौशर अली कक्ष में होगा। वहीं एनडीए की राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू अगले शनिवार को विधानसभा में वोट मांगने आएंगी। वह स्पीकर बिमान बनर्जी से भी मिल सकती हैं।
किसी ने नहीं स्वीकारा कोविंद को वोट देना

कोई भी पक्ष यह स्वीकार नहीं करना चाहता था कि उनके विधायकों ने कोविंद को वोट दिया था। इस बार बंगाल की सत्ताधारी पार्टी ऐसी स्थिति नहीं चाहती है। इसलिए इस बार विधायकों के लिए प्रशिक्षण शिविर का आयोजन कर राष्ट्रपति चुनाव में मतदान की प्रक्रिया को सभी विधायकों को समझा देना चाहती है। तृणमूल के लोकसभा और राज्यसभा के सभी सांसद भी पश्चिम बंगाल विधानसभा में ही मतदान करेंगे।
पिछले चुनाव से सबक

पिछले राष्ट्रपति चुनाव में मौजूदा राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और यूपीए उम्मीदवार मीरा कुमार के बीच मुकाबला हुआ था। तब मीरा को पश्चिम बंगाल विधानसभा में भाजपा के तीन विधायकों के अलावा तृणमूल कांग्रेस और वाममोर्चा के सभी विधायकों को वोट मिलना था। लेकिन मतगणना के दौरान देखा गया कि रामनाथ को पश्चिम बंगाल से तीन के बजाय 13 वोट मिले। वहीं आठ विधायकों के वोट रद्द हो गए थे। लगभग 18 वोट विपक्षी खेमे को कैसे चले गए या नष्ट हो गए। इस पर वाम-कांग्रेस और तृणमूल के बीच काफी चर्चा हुई।
70 नए विधायक

तृणमूल पार्टी में नए विधायकों की संख्या करीब 70 है। पार्टी सूत्रों के अनुसार, प्रशिक्षण की व्यवस्था इसलिए की जाएगी ताकि विधायक किसी भी तरह से अपना वोट खराब न कर पाएं। तृणमूल नेतृत्व यह सुनिश्चित करना चाहता है कि पार्टी के सभी विधायक राष्ट्रपति चुनाव में विपक्षी उम्मीदवार यशवंत सिन्हा के लिए ही मतदान करें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Maharashtra: सीएम शिंदे की ‘मिनी’ टीम में हुआ विभागों का बंटवारा, फडणवीस को मिला गृह और वित्त, जानें किसे मिली क्या जिम्मेदारीलाखों खर्च कर गुजराती युवक ने तिरंगे के रंग में रंगी कार, PM मोदी व अमित शाह से मिलने की इच्छा लिए पहुंचा दिल्लीशेयर मार्केट के बिगबुल राकेश झुनझुनवाला की मौत ऐसे हुई, डॉक्टर ने बताई वजहBJP ने देश विभाजन पर वीडियो जारी कर जवाहर लाल नेहरू पर साधा निशाना, कांग्रेस ने किया पलटवारIndependent Day पर देशभर के 1082 पुलिस जवानों को मिलेगा पदक, सबसे ज्यादा 125 जम्मू कश्मीर पुलिस कोहरियाणा में निकली 6600 फीट लंबी तिरंगा यात्रा, मनाया जा रहा आजादी के अमृत महोत्सव का जश्नIndependence Day 2022: लालकिला छावनी में तब्दील, जमीन से आसमान तक काउंटर-ड्रोन सिस्टम से निगरानी14 अगस्त को 'विभाजन विभिषिका स्मृति दिवस' मनाने पर कांग्रेस का BJP पर हमला, कहा- नफरत फैलाने के लिए त्रासदी का दुरुपयोग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.