बंगाल में तिहरा हत्याकांड: शिक्षक, गर्भवती पत्नी व पुत्र की हत्या

बंगाल में तिहरा हत्याकांड: शिक्षक, गर्भवती पत्नी व पुत्र की हत्या
बंगाल में तिहरा हत्याकांड: शिक्षक, गर्भवती पत्नी व पुत्र की हत्या

Rabindra Rai | Updated: 09 Oct 2019, 09:40:12 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

मुर्शिदाबाद जिले के जियागंज थाना क्षेत्र के लेबुतल्ला इलाके में एक ही परिवार के तीन लोगों की नृशंस हत्या का मामला सामने आया है।

कोलकाता.
मुर्शिदाबाद जिले के जियागंज थाना क्षेत्र के लेबुतल्ला इलाके में एक ही परिवार के तीन लोगों की नृशंस हत्या का मामला सामने आया है। मृतकों में शिक्षक बंधुप्रकाश पाल (40), उनकी पत्नी ब्यूटी पाल (30 ) और पुत्र अंकन पाल (8) शामिल है। मंगलवार दोपहर तीनों को घर के अंदर रक्तरंजित हालत में पाया गया। जियागंज थाना पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। हत्या में इस्तेमाल किए गए धारदार हथियार को भी बरामद कर लिया। शिक्षक राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सदस्य भी थे। दशहरा के दिन इस तिहरे हत्याकांड से जियागंज इलाके में सनसनी फैल गई है।

--

आपसी रंजिश या सम्पत्ति विवाद

पुलिस ने बताया कि प्रथम दृष्‍टया मामला आपसी रंजिश या सम्पत्ति विवाद का लग रहा है। शिक्षक बंधु प्रकाश सागरदिघी इलाके के निवासी थे। कार्यस्थल और घर के बीच लंबी दूरी होने की वजह से वह पिछले 5 साल से अपनी पत्नी और बेटे के साथ लेबुतल्ला इलाके में किराए के मकान में रह रहे थे। पूजा की छुट्टियां होने से वह पिछले कई दिनों से घर पर थे। मंगलवार सुबह वह अपने बेटे के साथ बाजार गए थे। उनके घर लौटने के कुछ घंटे बाद पड़ोसियों ने उनके घर से चिल्लाने की आवाज सुनी। उनके घर पहुंचे तो एक ओर जहां कमरे में बंधुप्रकाश और ब्यूटी लहूलुहान तड़प रहे थे। वहीं बिस्तर पर उसका बेटा अंकन खून से लथ-पथ पड़ा था। स्‍थानीय लोगों ने पुलिस को बताया कि जब वे शिक्षक के घर पहुंचे तो उस वक्त एक युवक को घर के अंदर से निकलकर भागते हुए देखा था। पुलिस अब उस युवक की तलाश कर रही है।
---
सीबीआई जांच की मांग
स्थानीय लोगों का दावा है कि घटना में किसी करीबी का हाथ है। मृतकों के परिजनों का कहना है कि किसी ने आपसी रंजिश की वजह से घटना को अंजाम दिया है। हालांकि कुछ लोगों ने इसे राजनीतिक हत्या करार देना शुरू कर दिया है। स्थानीय लोगों ने हत्याकांड की जांच सीबीआई से कराए जाने की मांग की है। करीबियों का दावा है कि शिक्षक आरएसएस के सक्रिय समर्थक थे। इसीलिए राजनीतिक कारणों से उनकी हत्या की गई है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned