कोलकाता से सटे न्यूटाउन में मुठभेड़ में पंजाब के दो कुख्यात गैंगस्टर ढेर

  • दोनों पर पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली में 50 से ज्यादा मामले थे दर्ज
  • एक एसटीएफ अधिकारी जख्मी

By: Ashutosh Kumar Singh

Updated: 10 Jun 2021, 12:23 AM IST

कोलकाता

पश्चिम बंगाल की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) और विधाननगर सिटी पुलिस ने बुधवार दोपहर संयुक्त मुठभेड़ में पंजाब के दो गैंगस्टर को मार गिराया। मारे गए अपराधियों के नाम जयपाल सिंह भुल्लर और जसप्रीत सिंह हैं। सूत्रों के अनुसार इन दोनों पर पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली में 50 से ज्यादा मामले दर्ज हैं। जयपाल पर 10 लाख और जसप्रीत पर 5 लाख रुपए का इनाम था। एसटीएफ के एक अधिकारी को भी गोली लगी है। उन्हें इलाज के लिए आमरी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वे खतरे से बार है।
मुठभेड़ अपराह्न लगभग साढ़े तीन बजे कोलकाता से सटे न्यूटाउन इलाका स्थित सापुर्जी हाउसिंग कॉम्प्लेक्स में हुई। एसटीएफ को सूचना मिली थी कि पंजाब के दो इनामी गैंगस्टर कॉम्प्लेक्स के बी ब्लॉक में ठहरे हुए हैं। उन्हें पकडऩे के लिए एसटीएफ की टीम विधाननगर सिटी पुलिस के साथ पहुंची। पुलिस वाले जैसे ही गाडी से उतरे पांचवें तल्ले के एक फ्लैट की बालकनी से अपराधियों ने पुलिस पर अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी। अपराधियों की गोली से एसटीएफ के एक अधिकारी घायल हो गए। एसटीएफ और विधाननगर सिटी पुलिस कर्मियों ने जवाबी कार्रवाई करते हुए कई राउंड फायरिंग की, जिसमें दोनों अपराधी ढेर हो गए। दोनों के शव को पास्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।
--
5 अवैध असलहा, 89 कारतूस और 7 लाख बरामद
एसटीएफ एडीजी विनित गोयल ने बताया कि जिस फ्लैट में दोनों अपराधी ठहरे थे, वहां से 5 अवैध असलहा, 89 कारतूस और 7 लाख नकद, मोबाइल फोन वगैरह बरामद किए गए हैं। मामले की विस्तृत जांच जारी है।
जयपाल को पंजाब पुलिस पिछले महीने से तलाश कर रही थी। कुछ दिन पहले मध्य प्रदेश के ग्वालियर से उसके साथियों को पकड़ा गया था। वहां से उन्हें जयपाल और जसप्रीत के यहां छुपे होने की खबर मिली थी। फिर बंगाल एसटीएफ ने यह कार्रवाई की।
---
पंजाब में दो पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोपी
पंजाब के डीजीपी दिनकर गुप्ता ने बताया कि जयपाल पंजाब में दो पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोपी था। गत 15 मई को उसने भगवान सिंह और दलविंदर सिंह नामक दो पुलिस सब-इस्पेक्टरों को लुधियाना जिले के जगरांव के न्यू ग्रेन मार्केट में गोली मार दी थी। इससे पहले 10 मई को उसने एक थानेदार पर हमला कर पिस्तौल छीन ली थी। उक्त वारदात के बाद जयपाल अपने साथियों के साथ फरार था। इस ऑपरेशन में पंजाब पुलिस की ऑर्गेनाइज्ड क्राइम कंट्रोल यूनिट (ओसीसीयू) की एक टीम को शामिल किया गया था।
--
पंजाब पुलिस की टीम पहुंची कोलकाता
दोनों कुख्यात अपराधियों के मुठभेड़ में मारे जाने की की खबर सुन पंजाब पुलिस की एक टीम फ्लाइट से कोलकाता पहुंच चुकी है।मुठभेड़ में घायल एसटीएफ के अधिकारी का नाम कार्तिक मोहन घोष बताया जा रहा है। उन्हें इलाज के लिए आमरी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अस्पताल सूत्रों के अनुसार गोली उनके कंधे को भेदकर बाहर निकल गई है। वे खतरे से बाहर हैं।

Ashutosh Kumar Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned