अंग प्रत्यारोपण के बाद दो मरीजों की मौत

ब्रेन डेड घोषित महिला कल्याणी सरकार की लिवर और किडनी एसएसकेएम अस्पताल के मरीजों में मैच नहीं हुई

By: शंकर शर्मा

Published: 12 Nov 2017, 08:42 PM IST

कोलकाता. ब्रेन डेड घोषित महिला कल्याणी सरकार की लिवर और किडनी एसएसकेएम अस्पताल के मरीजों में मैच नहीं हुई। सफल प्रत्यारोपण के बाद दोनों की मौत हो गई। आर.एन. टैगोर इंटरनेशनल इंस्टीच्यूट ऑफ कार्डियाक साइंसेज में ५७ वर्षीय महिला कल्याणी सरकार का ब्रेन डेड घोषित किया गया था।

परिवार की सहमति और राज्य स्वास्थ्य विभाग की अनुमति के बाद कल्याणी की लिवर एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती दक्षिण २४ परगना जिले के विष्णुपुर की रहने वाली मधुमिता दास नामक महिला में तथा एक किडनी पश्चिम मिदनापुर जिला निवासी सचिन्द्रनाथ मित्रा में प्रत्यारोपित की गई। सफल प्रत्यारोपण के बाद रात में ही मधुमिता की मौत हो गई, जबकि शनिवार सुबह सचिन्द्रनाथ मित्रा का दम टूट गया।


कल्याणी की दूसरी किडनी आर.एन. टैगोर अस्पताल में भर्ती एक मरीज को दी गई। उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है। एसएसकेएम के मेडिकल अफसर अजय कुमार राय ने बताया कि प्रत्यारोपण सफल हुआ था, लेकिन मैच नहीं किया। इस ऑपरेशन से डॉक्टरों को काफी कुछ सीखने को मिला है। भविष्य में वह काम आएगा। (कासं)

एसएसकेएम अस्पताल में बढ़ेगी बेडों की संख्या
पश्चिम बंगाल सरकार ने एसएसकेएम अस्पताल में बेडों की संख्या बढ़ाने का निर्णय किया है। राज्य स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों के अनुसार अस्पताल में ६०० बेड बढ़ाए जाएंगे। इनमें से 500 बेड जनरल होंगे और १०० बेड क्रिटिकल केयर यूनिट के होंगे। अस्पताल के मेडिकल ऑफिसर अजय राय ने बताया कि अगले दो महीने में सभी बेड लग जाएंगे। प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

मरीज ने टे्रन के सामने कूदकर की आत्महत्या
किडनी के मरीज ने अवसादग्रस्त होकर पार्क सर्कस स्टेशन पर शनिवार की सुबह टे्रन के सामने कूदकर आत्महत्या कर ली। मृतक का नाम अब्दुल खालिद मोल्ला(४५) है। बताया जाता है कि उसने शनिवार की सुबह ७.१५ बजे डाउन नामखाना लोकल के सामने कूदकर आत्महत्या कर ली। शुक्रवार रात को ही चितरंजन नेशनल मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। अब्दुल दक्षिण २४ परगना के मगराहाट का रहने वाला था।

अब्दुल की दोनों किडनी खराब हो गई थी। पार्क सर्कस जीआरपी ने बाद में आकर शव को हटाया। प्राथमिक रूप में पुलिस का कहना है कि अब्दुल ने मानसिक अवसाद से ग्रस्त होकर आत्महत्या की है। अब्दुल शनिवार सुबह व अस्पताल से निकलकर पार्क सर्कस कैसे चला गया? इस मामले में अब्दुल के घरवालों ने अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही का आरोप लगाया है।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned