केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लागू करने की धमकी दी

  • उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि तृणमूल को मतदाताओं को डराना-धमकाना बंद करना चाहिए, अन्यथा संविधान में इससे निपटने के प्रावधान मौजूद हैं...

By: Ashutosh Kumar Singh

Published: 21 Nov 2020, 08:43 AM IST

कोलकाता
पश्चिम बंगाल में भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या के मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो ने ममता बनर्जी सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि तृणमूल को मतदाताओं को डराना-धमकाना बंद करना चाहिए, अन्यथा संविधान में इससे निपटने के प्रावधान मौजूद हैं। सुप्रियो ने इस दौरान आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल में 130 से ज्यादा भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या की गई है।
केंद्रीय मंत्री ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस को अपने तौर-तरीके बदलने चाहिए। चुनाव में अब कुछ महीने ही बचे हैं। अगर तृणमूल के सदस्यों को लगता है कि वे मतदाताओं को डरा-धमका सकते हैं और राजनीतिक हिंसा कर सकते हैं, तो संविधान में इससे निपटने के प्रावधान मौजूद हैं।' सुप्रियो ने दावा किया कि राज्य के लोगों ने विधानसभा चुनाव में बीजेपी को वोट देने का मन बना लिया है। यहां चुनाव अगले साल अप्रैल-मई में होने हैं।
सुप्रियो ने कहा कि 'हम चाहते हैं कि तृणमूल को सत्ता में लाने वाले लोग अब लोकतांत्रिक प्रक्रिया के माध्यम से ही वर्तमान सरकार को गिराएं।
तृणमूल कांग्रेस ने बाबुल सुप्रियो के इस बयान पर पलटवार भी किया है। पार्टी ने कहा कि सुप्रियो ऐसा कहकर राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने का संकेत दे रहे हैं। तृणमूल कांग्रेस के सांसद सौगत राय ने कहा कि गर वह राज्य में धारा 356 लगाने का संकेत दे रहे हैं, तो वह पहले उत्तर प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने की बात करें, जहां कानून के शासन का अस्तित्व ही समाप्त हो गया है।

Ashutosh Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned