Violence in Bengal: बंगाल में फिर हिंसा: फायरिंग, बमबाजी, 2 की मौत

Violence in Bengal: बंगाल में फिर हिंसा: फायरिंग, बमबाजी, 2 की मौत

Ashutosh Kumar Singh | Publish: Jun, 20 2019 10:23:20 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

- पुलिस ने भाटपाड़ा में दागे आंसू गैस के गोले, किया लाठीचार्ज
- हालात की समीक्षा के लिए सीएम (CM) ममता ने की आपात बैठक- हिंसा पर केन्द्र सरकार की नजर, भाजपा भेजेगी रिपोर्ट

- भाजपा का आरोप पुलिस की गोली से हुई बेकसूरों की मौत, पुलिस का इनकार

- बैरकपुर के पुलिस आयुक्त का तबादला, मनोज वर्मा को कमान सौंपी

कोलकाता

पश्चिम बंगाल (West Bengal) के उत्तर 24 परगना जिले के भाटपाड़ा इलाके में गुरुवार दोपहर एक बार फिर हिंसा भडक़ उठी। तृणमूल कांग्रेस और भाजपा समर्थकों में खूनी झड़प में 2 बेकूसर लोगों की मौत हो गई, 5 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। मृतकों की पहचान रामबाबू साव और धर्मवीर साव के रूप में है। राजनीति से इनका कोई लेनादेना नहीं था। पारिवारिक सूत्रों के अनुसार दोनों घर से बाजार करने के लिए निकले थे। घायलों में से तीन की पहचान विक्रम बर्मा, अशोक साव तथा संतोष साव के रूप में हुई। इनमें से चार जनों की हालत चिंताजनक बताई जा रही है। भाजपा और स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया है कि पुलिस की गोली से लोगों की मौत हुई है। दूसरी ओर पुलिस ने आरोप को झूठा बताया है। उप पुलिस आयुक्त, बैरकपुर अजय ठाकुर ने बताया कि पुलिस ने हवा में फायरिंग की। हिंसा में 6 पुलिसकर्मियों (Six polceman) के घायल होने की खबर है। राज्य सरकार ने हिंसा को गंभीरता से लेते हुए आईपीएस संजय सिंह को तत्काल प्रभाव से एडीजी बनाकर बैरकपुर भेजा, जबकि बैरकपुर के पुलिस आयुक्त तन्मय राय चौधरी का तबादला कर दिया गया। मनोज वर्मा को बैरकपुर का नया सीपी बनाया है। सीएम ममता बनर्जी ने सचिवालय नवान्न में आपात बैठक की तथा पूरी स्थिति की समीक्षा की। बैठक के बाद गृह सचिव अलापन बंद्योपाध्याय ने भाटपाड़ा, जगदल एवं आसपास के इलाकों में धारा-१४४ लागू करने की घोषणा की। हालात को काबू पाने के लिए इलाके में बड़ी संख्या में पुलिस, रैफ एवं कमबैट फोर्स के जवानों को तैनात किया गया है। भाजपा ने पूरी घटना की रिपोर्ट केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) को भेजने का फैसला किया है। माना जा रहा है कि पूरी स्थिति पर केन्द्र की नजर है। लोकसभा चुनाव के समय से ही इलाके में हिंसा हो रही है।इधर हिंसा को लेकर सियासत शुरू हो गई है। भाजपा का आरोप है कि तृणमूल के इशारे पर पुलिस ने फायरिंग की है। पुलिस की गोली से लोगों की मौत हुई है। तृणमूल ने आरोप को झूठा बताते हुए भाजपा समर्थकों पर गोली चलाने और बम फेंकने का आरोप लगाया है।वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि गुरुवार दोपहर 12 बजे भाटपाड़ा में नए थाने का उद्घाटन होने वाला था। राज्य के पुलिस महानिदेशक बीरेन्द्र उद्घाटन करने वाले थे। इससे पहले ही इलाके में तृणमूल कांग्रेस और भाजपा समर्थकों में बमबाजी शुरू हो गई। हालात को बेकाबू होते देख बड़ी तादाद में पुलिस पहुंची। पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे तथा लाठीचार्ज किया। फिर भी जब स्थिति नियंत्रित नहीं हुई तो पुलिस ने हवा में फायरिंग की। एसपी-२ की गाड़ी में उपद्रवियों ने तोडफ़ोड़ की। पुलिस महानिदेशक ने बताया कि पुलिस की ओर से भी फायरिंग की गई है, हालांकि पुलिस ने हवा में फायरिंग की। मौत किसकी गोली से हुई है, इसकी जांच की जा रही है।

----------

इनका कहना है

तृणमूल कांग्रेस ने पुलिस से गोलियां चलवाई है। पुलिस की गोली से लोगों की मौत हुई है। तृणमूल कांग्रेस मुस्लिम अपराधियों से इलाके में अशांति फैला रही है।

अर्जुन सिंह, भाजपा सांसद

------

अर्जुन सिंह झूठ बोल रहे हैं। भाटपाड़ा एवं जगदल में अर्जुन सिंह अशांति फैल रहे हैं। पूरी घटना के लिए भाजपा और अर्जुन सिंह जिम्मेदार हैं।

मदन मित्रा, तृणमूल कांग्रेस नेता

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned