पश्चिम बंगाल में बख्शे नहीं जाएंगे वांछित अपराधी

लोकसभा चुनाव के मद्देनजर पश्चिम बंगाल की कानून व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए राज्य के समस्त थानों में दर्ज विभिन्न मामलों के वांछित लोगों को शीघ्र गिरफ्तार करने पर जोर दिया गया है।

By: Prabhat Kumar Gupta

Published: 03 Mar 2019, 09:15 PM IST


- कानून व्यवस्था पर समीक्षा बैठक में सीईओ के निर्देश
कोलकाता.
लोकसभा चुनाव के मद्देनजर पश्चिम बंगाल की कानून व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए राज्य के समस्त थानों में दर्ज विभिन्न मामलों के वांछित लोगों को शीघ्र गिरफ्तार करने पर जोर दिया गया है। राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) डॉ. आरिज अफताब ने शनिवार को समस्त जिलों के कलक्टर तथा जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक में यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि शांतिपूर्वक चुनाव के लिए कानून-व्यवस्था का चुस्त रहना अत्यंत जरूरी है। डॉ. अफताब ने कलक्टरों का आह्वान करते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव में जिला प्रशासन की अहम भूमिका होती है। जिला निर्वाचन अधिकारी की हैसियत से कलक्टरों के समक्ष कड़ी चुनौती रहती है। केंद्रीय निर्वाचन आयोग के दिशा निर्देशों के अंतर्गत पारदर्शिता के साथ काम करना है। डॉ. अफताब ने कहा कि राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में विभिन्न मामलों के वांछित लोगों के खिलाफ जारी गिरफ्तारी वारंट यथाशीघ्र तामिल कर सलाखों के पीछे डाला जाए। इस अवसर पर उप मुख्य निर्वाचन अधिकारी अमित ज्योति भट्टाचार्य, बुलन भट्टाचार्य, सुब्रत पाल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। उल्लेखनीय है कि इससे पहले निर्वाचन आयुक्त तथा बंगाल के प्रभारी सुदीप जैन ने शुक्रवार को राज्य के विभिन्न जिलों के कलक्टरों तथा सीईओ कार्यालय के अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के जरिए चुनाव की तैयारियों पर चर्चा की थी।

Prabhat Kumar Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned