डब्ल्यूबीजेईई परिणाम: अभिनंदन बोस बने टॉपर

टॉप 10 में बंगाल उच्च माध्यमिक बोर्ड का एक भी विद्यार्थी नहीं
-99 फीसदी हुए उत्तीर्ण

-1,05,974 में से 1,05,081 हुए उत्तीर्ण

कोलक ाता

By: Krishna Das Parth

Published: 24 May 2018, 12:23 AM IST

सीबीएसई बोर्ड से संबद्ध साउथ प्वाइंट हाई स्कूल के छात्र अभिनंदन बोस ने इंजीनियरिंग, फार्मेसी व आर्किटेक्चर की पढ़ाई में भर्ती के लिए आयोजित पश्चिम बंगाल संयुक्त प्रवेश परीक्षा -2018 (डब्ल्यूबीजेईई) में प्रथम स्थान हासिल किया है। दूसरे स्थान पर हरियाणा विद्यामंदिर के देदिप्य राय व तीसरे स्थान पर डीपीएस रू बी पार्क के अर्चिस्मान साहा रहे। पश्चिम बंगाल संयुक्त प्रवेश परीक्षा परिणामों की टॉप -10 मेधा सूची में सिर्फ एक छात्रा ही जगह बना पाई है। दसवें स्थान पर रहने वाली आयुषी विद्यांता फिटजी दवारकानगर विशाखापत्तनम की छात्रा है। वर्ष 2019 में संयुक्त प्रवेश परीक्षा 21 अप्रेल को होगी। राज्य में कुल
-1,05,974 विद्यार्थियों ने प्रवेश परीक्षा दी थी, जिनमें कुल 1,05,081 विद्यार्थी उत्तीर्ण रहे। पश्चिम बंगाल संयुक्त प्रवेश परीक्षा बोर्ड के चेयरमैन मलयेंदू साहा ने बुधवार को साल्टलेक स्थित बोर्ड भवन में नतीजे घोषित किए। चेयरमैन साहा ने बताया कि उत्तीर्ण सभी रैंक कार्ड दिए जाएंगे। सभी बोर्ड की बेवसाइट से अपना रैंक कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं। पश्चिम बंगाल संयुक्त प्रवेश परीक्षा 339 परीक्षा केन्द्रों पर गत 22 अप्रेल को हुई थी। 30 दिनों के भीतर परिणाम घोषित किए गए। इस परीक्षा में बिहार, झारखंड, त्रिपुरा, असम सहित कई राज्यों के विद्यार्थी शामिल हुए।

टॉप 10 में उच्च माध्यमिक बोर्ड का एक भी विद्यार्थी नहीं

पश्चिम बंगाल संयुक्त प्रवेश परीक्षा -2018 के नतीजों में टॉप 10 में उच्च माध्यमिक बोर्ड का एक भी विद्यार्थी नहीं है। बोर्ड की ओर से जारी मेधा सूची में सीबीएसई, आईएससी व दूसरे बोर्ड के विद्यार्थियों ने जगह बनाई है। पश्चिम बंगाल संयुक्त प्रवेश परीक्षा में कुल 1,05,081 विद्यार्थी उत्तीर्ण हुए। चेयरमैन ने बताया कि इसमें उच्च माध्यमिक बोर्ड के 47 फीसदी छात्र उत्ती र्ण हैं। सीबीएसई के 28 फीसदी, आईएससी के 13 फीसदी सहित अन्य बोर्ड शामिल हैं पर प्रथम -10 की सूची में ऐसा कोई नहीं है जो पश्चिम बंगाल बोर्ड स्कूल से हो।

4 से शुरू होगी काउंसिलिंग

पश्चिम बंगाल संयुक्त प्रवेश परीक्षा बोर्ड की ओर से काउंसिलिंग 4 जून से शुरू होगी। चेयरमैन साहा ने बताया कि रैंक कार्ड में ही यह बताया गया कि उन्हें काउंसिलिंग के लिए बुलाया गया है। इस काउंसिलिंग में राज्य के सभी सरकारी व निजी कॉलेज शामिल होंगे।
(कासं)
-----------
कैसे किय शानदार परिणाम: मेधावियों के सफलता मंत्र

फोटो है

संयुक्त प्रवेश परीक्षा देनी है इसके लिए मानसकि रूप से पहले से ही तैयार था। कोचिंग व ट्यशन के अलावा कम से 5 घंटे प्रतिदिन पढऩे का लक्ष्य तय किया था। सामान्य सी बात है कि समय वहीं देंगे तो सब याद नहीं रहेगा। सुविधा के अनुसार जब भी समय मिलता था, मैंने पढ़ाई की। नतीजे बेहतर होंगे यह पता तो था, पर तीसरा स्थान हासिल करूंगा यह सोचा नहीं था। नतीजे सुनकर परिजनों को काफी खुशी हुई है। सभी बहुत खुश हैं।
- अर्चिस्मान साहा, तृतीय

डीपीएस रूबी पार्क।

------------------------------

कड़ी मेहनत से यह सफलता मिली है। आगे आईआईटी में इंजीनियरिंग की पढ़ाई करनी है। जेईई मेन के परिणाम का इंतजार है। पहली पसंद आईआईटी बम्बई है। किस संकाय में जाना है इसके बारे में अभी नहीं सोचा है। इस शानदार परिणामों के लिए शिक्षक व अभिभावक सभी को योगदान है। इस सफलता से एक बात सीखी है कि अच्छे परिणाम के लिए अनवरत महेनत करनी पड़ती है। लगातार प्रश्नपत्र हल किए हैं। योजना व सही दिशानिर्देश ,सफलता दिलाते हैं।

- शुभम अग्रवाल, चतुर्थ।

सेंट थॉमस ब्वायज स्कूल डायमंड हार्बर

----------------------------

संयुक्त प्रवेश परीक्षा के लिए काफी मेहनत की थी। आगे मैके निकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करनी है। ट्यूशन के अलावा 5 घंटे तक पढ़ाई कम से कम की। स्कूल के शिक्षकों ने सबसे अधिक मदद की है। इसके साथ ही अभिभावकों का भी साथ रहा है।

- देदिप्य राय, तृतीय,

- हरियाणा विद्यामंदिर।
---------------------

आगे क म्प्यूटर साइंस लेकर पढ़ाई करनी है। अगर आईआईटी में अवसर मिला, तो सबसे बहेतर है। संयुक्त प्रवेश परीक्षा को लेकर शुरू से ही सतर्क था। योजनाबद्ध तरीके से पढ़ाई की है। घर के सभी प्रेरित करते थे। परिणाम अच्छे होंगे पता था, पर इतने अच्छे होंगे यह नहीं सोचा था। नतीजे को सुनकर सभी बहुत खुश हैं।

- नमन बियानी, छठवां

श्रीश्री एकेडमी, अलीपुर ।

Krishna Das Parth Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned