पश्चिम बंगालः पुरोहितों के भत्ता वितरण में भ्रष्टाचार का आरोप, कलक्टर ने दिया जांच का आश्वासन

  • मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विधानसभा चुनाव से पहले अपनी हिंदू विरोधी छवि सुधारने के लिए राज्य के पुरोहितों को भत्ता देने का आश्वासन दिया था। अब आरोप लग रहे हैं कि भत्ता वितरण में भी व्यापक भ्रष्टाचार हुआ

By: Ashutosh Kumar Singh

Published: 30 Dec 2020, 11:51 PM IST

कोलकाता
पश्चिम बंगाल में सत्तारूढ़ पार्टी पर एक के बाद एक भ्रष्टाचार के लग रहे आरोपों के बीच एक और मुश्किल सामने आई है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विधानसभा चुनाव से पहले अपनी हिंदू विरोधी छवि सुधारने के लिए राज्य के पुरोहितों को भत्ता देने का आश्वासन दिया था। अब आरोप लग रहे हैं कि भत्ता वितरण में भी व्यापक भ्रष्टाचार हुआ। पुरोहितों के भत्ता के नाम पर केवल सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस कार्यकर्ताओं के खाते में रुपये ट्रांसफर किए गए।
भारतीय जनता पार्टी ने इसे लेकर बंगाल सरकार को घेरने की तैयारियां शुरू कर दी है। मालदह में पुरोहितों ने एकदिन पहले ही विरोध प्रदर्शन किया था। उनका कहना था कि फॉर्म भरने के बावजूद भत्ता मिल नहीं रहा। संबंधित विभाग से संपर्क करने पर कहा जा रहा है कि स्थानीय तृणमूल नेता के पास जाइए और पार्टी ज्वाइन करिए। इसके बाद नाराज पुरोहितों ने मालदह जिला अधिकारी के पास शिकायत दर्ज कराई है।
मालदह के जिलाधिकारी ने बताया है कि भत्ता वितरण में भ्रष्टाचार की शिकायत मिली है। इसकी जांच होगी। मालदा जिला के भाजपा नेता भूपेश अग्रवाल ने कहा कि ममता बनर्जी की पूरी सरकार चीटिंगबाजों की सरकार है।

Ashutosh Kumar Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned