बंगाल बिग ब्रेकिंग: बुरे फंसे भाजपा के वरिष्ठ नेता, राज्य की राजनीति में होगा उथल-पुथल

नौ साल पहले हुए Birbhum district of West Bengal के लाभपुर काण्ड में पुलिस ने मनिरूल इस्लाम के साथ BJP के वरिष्ठ नेता मुकुल राय का नाम अतिरिक्त चार्जशीट में में क्यो शामिल की ।

मुख्यमंत्री ममता पर लगाया बदले की राजनीति करने का आरोप
कोलकाता
लाभपुर काण्ड में बोलपुर कोर्ट ने भाजपा के वरिष्ठ नेता मुकुल राय और मनिरूल इस्लाम के खिलाफ गैर जमानती गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। मुकुल राय ने उक्त हत्या के लिए ममता बनर्जी को जिम्मेदार ठहराया है।
नौ साल पहले हुए बीरभूम जिले के लाभपुर काण्ड के चार साल बाद वर्ष 2014 में दाखिल किए गए पहले चार्जशीट में आरोपी मनिरूल इस्लाम का नाम शामिल नहीं होने पर मृतकों के परिजन कलकत्ता हाई कोर्ट चले गए। तब फारवर्ड ब्लॉक छोड़ कर आए तृणमूल कांग्रेस में आए इस्लाम पार्टी के बीरभूम जिला के उपाध्यक्ष थे। तब मुकुल राय भी तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी के लेफ्टिनेन्ट थे। अब दोनों नेता भाजपा में हैं।

हाई कोर्ट की ओर से मामले की पूर्ण जांच कर तीन महीने के भीतर रिपोर्ट देने के निर्देश पर बीरभूम जिला पुलिस ने 16 नवंबर 2019 को पूर्ण जांच शुरू की। जांच पूरी होने पर बोलपुर कोर्ट में अतिरिक्त चार्जशीट पेश कर दी।

लेकिन गत सात दिसंबर 2019 को पुलिस ने बोलपुर कोर्ट में पेश किए गए लाभपुर काण्ड से संबंधित अपने अतिरिक्त चार्जशीट में मनिरूल इस्लाम के साथ भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारणी के सदस्य मुकुल राय का नाम शामिल कर दिया। इसके साथ ही बोलपुर कोर्ट ने राय और इस्लाम के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी कर दिया है।
इस अतिरिक्त चार्जशीट में मनिरूल इस्लाम के साथ मुकुल राय और अन्य 23 लोगों के नाम शामिल हैं। हत्या होने के इतने साल तक इस मामले के पहले चार्जशीट में मुकुल राय के नाम नहीं होने और अतिरिक्त चार्जशीट में मनिरूल इस्लाम के साथ राय का नाम शामिल किए जाने को भाजपा बदले की राजनीतिक प्रतिहिंसा करार दे रही है।
लाभपुर हत्याकाण्ड ममता के अशान्ति फैलाने का हिस्सा
ंमुकुल राय ने कहा कि उन्हें इस बारे में कोई खबर नहीं है, लेकिन इसके लिए मुख्य जिम्मेदार ममता बनर्जी है। सत्ता में आने के साथ ही ममता बनर्जी बंगाल में अशान्त फैलाने की कोशिश कर रही हैं। लाभपुर हत्याकाण्ड उनकी हिंसा फैलाने की कीशिश का हिस्सा है।
लेकिन तृणमूल कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव पार्थ चटर्जी ने मुकुल राय के
आरोप को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि पार्थ- पुलिस चार्जशीट जमा दी है तो कानून काम करेगा। इस बारे में उन्हें कुछ भी नहीं कहना है। इनके खिलाफ कुछ भी होने पर सीधे ममता बनर्जी, तृणमूल कांग्रेस पर आरोप लगाना शुरू कर देते हैं। यह निर्देश तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ने तो नहीं दिया है।
ये है मामला
वर्ष 2010 में बीरभूम जिले के लाभपुर के तीन माकपा कार्यकर्ताओं की हत्या हुई थी। तीनों भाई थे। आरोप है कि मनीरूल इस्लाम ने सालिसी बैठक (पंचायत) करने के लिए काटन शेख और जरीना बीबी के तीन बेटों को अपने घर बुलाया। और उन्हें पीट-पीटकर अधमरा कर दिया और बम मार कर उनकी हत्या कर दी। पुलिस ने इस मामले में मनिरूल इस्लाम को गिरफ्तार भी की थी। लेकिन बाद में जमानत पर रिहा हो कर वे तृणमूल कांग्रेस के टिकट पर लाभपुर से 2011 का विधानसभा चुनाव लड़े और जीत कर विधायक भी बन गए।

Show More
Manoj Singh Reporting
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned