उन्नाव रेप पीड़िता की मौत पर क्या बोली बंगाल की सीएम ममता बनर्जी

उत्तर प्रदेश के उन्नाव की हृदय विदारक सामूहिक रेप की शिकार पीड़िता ने गुरुवार को 90 फीसदी जलने के बावजूद हिम्मत नहीं हारी। करीब 36 घंटे तक जिंदगी और मौत से जूझते हुए शुक्रवार रात उसने दम तोड़ दिया। इसे लेकर पूरे देश में विरोध प्रदर्शन जारी है।

कोलकाता.

उत्तर प्रदेश के उन्नाव की हृदय विदारक सामूहिक रेप की शिकार पीड़िता ने गुरुवार को 90 फीसदी जलने के बावजूद हिम्मत नहीं हारी। करीब 36 घंटे तक जिंदगी और मौत से जूझते हुए शुक्रवार रात उसने दम तोड़ दिया। इसे लेकर पूरे देश में विरोध प्रदर्शन जारी है। राष्ट्रीय स्तर पर घटना की सार्वजनिक रूप से निन्दा की जा रही है। निन्दा करने वालों में तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो तथा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी शामिल हैं। ममता बनर्जी ने उत्तर प्रदेश के उन्नाव में रेप पीडि़ता की शुक्रवार देर रात हुई मौत पर गहरी संवेदना प्रकट की है। सोशल नेटवर्क ट्वीटर पर ममता ने शनिवार को लिखा कि उन्नाव की घटना ने नृशंसता की सारी हदें पार कर दी है। पीडि़ता की मौत को लेकर दिल्ली सहित दूसरे राज्यों में विरोध के स्वर गूंज रहे हैं।

क्या है उन्नाव की घटनाः

गत वर्ष 12 दिसम्बर को उन्नाव के एक गांव में पीडि़ता से सामूहिक बलात्कार के वारदात हुए थे। पीडि़ता ने गत मार्च में शिवम और शुभम त्रिवेदी नामक दो लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। इनमें से एक आरोपी की गिरफ्तारी के बाद अदालत से जमानत भी मिल गई थी। गत गुरुवार को पीडि़ता ने मामले से संबंधित कुछ सूचनाएं देने के लिए अदालत जा रही थी। उसी वक्त उसके गले पर तेज हथियार से वार किया गया और बाद में उसके शरीर पर केरोसिन उड़ेल आग लगा दी गई। 90 फीसदी जले हालत में पीडि़ता करीब एक किमी. तक दौड़ लगाकर पुलिस के पास पहुंची थी। पुलिस के सहयोग के उसे पहले स्थानीय सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। बाद में उसे नई दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में स्थानांतरित किया गया। जहां उसकी मौत हो गई।

Prabhat Kumar Gupta
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned