ममता का तुगलकी बयान! बंगाल में रहना है तो बांग्ला बोलना होगा

ममता का तुगलकी बयान!  बंगाल में रहना है तो बांग्ला बोलना होगा

Ashutosh Kumar Singh | Updated: 14 Jun 2019, 05:12:52 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

  • कहा, बंगाल में यह कदम उठाना जरुरी है

कोलकाता
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शुक्रवार को तुलगकी बयान देते हुए कहा है कि उनके राज्य में रहने वाले लोगों को बांग्ला भाषा अनिवार्य रूप से बोलना होगा। वह उत्तर 24 परगना जिले में एक जनसभा को संबोधित कर रही थीं। ममता ने कहा कि भाजपा गलत इरादे से राज्य की शांति को नुकसान पहुंचानें में लग गई है। जिसको रोकने के लिए इस तरह के कदम उठाना जरुरी है। भाजपा नेता/कार्यकर्ता चुन-चुन कर बंगाली पिरवार के लोगों पर हमला कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब वे दूसरे राज्यों में प्रचार के लिए जाती हैं तो वहां की भाषा (हिन्दी) में बोलती हैं। उन्हें यह अच्छा लगता है। भाजपा पर हमला तेज करते हुए कहा कि ममता ने कहा कि भाजपा का बस चलें तो बंगाल को गुजरात बना देंगे। उन्होंने चुनौती देते हुए कहा कि राज्य में जब तक वे हैं तब तक उनके मंसूबों को पूरा नहीं होने देंगी। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा के लोग ही डॉक्टर की हड़ताल करवाकर उनके सरकार को बदनाम करने में लगी हुई है। इस बीच भाजपा के बंगाल के प्रभारी कैलाश विजवर्गीय ने ट्वीट करके ममता के स्वास्थ्य मंत्री होते हुए डॉक्टरों की हड़ताल पर सवाल खड़ा किया।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned