CORONA EFFECT: कोविड-19 के खिलाफ लडऩे के लिए चिरेका ने बनाया रिमोट नियंत्रित मेडिकल ट्रॉली

BENGAL CORONA NEWS-ट्रॉली का निर्माण चिरेका इन-हाउस इंजीनियरों ने किया, चितरंजन रेल इंजन कारखाना के जीएम मिश्रा ने दी पूरी टीम को बधाई

By: Shishir Sharan Rahi

Published: 05 May 2020, 04:12 PM IST

BENGAL CORONA ALERT: कोलकाता/चित्तरंजन. चित्तरंजन रेल कारखाना (चिरेका) स्थित केजी अस्पताल के आइसोलेटेड मरीजों की सुविधा-सेवा के लिए रिमोट नियंत्रित मेडिकल ट्रॉली का सफल परीक्षण यहां किया गया। इस ट्रॉली का निर्माण नई विकसित सोच का परिचय देते हुए चिरेका इन-हाउस इंजीनियरों ने किया है। जो परिष्कृत रिमोट नियंत्रित तकनीक और रिमोट कैमरा के साथ 2 तरह से संचार की सुविधा से लैस है। इसके साथ ही चिरेका ने कोविड-19 के खिलाफ लडऩे के लिए इस नई तकनीक वाली मेडिकल संयंत्र का निर्माण कर देश में लॉकडाउन के दौरान बड़ी उपलब्धि हासिल की है। इस सफल परीक्षण के कारण अब आपसी दूरी का ख्याल रखते हुए सेवा प्रदान करना जैसे 30 मीटर की दूरी से ही इस रिमोट का संचालन संभव हो पायेगा। दवा,भोजन बिस्तर आदि करीब 20 किलो तक वजन की वस्तुएं भी इस से संभव होगा। रात्रि सेवा प्रदान करने वाला एक कैमरा से यह ट्राली लैश है। मोबाइल एप्प के जरिये रोगी के रिश्तेदार रोगी को देख व सुन सकेंगे। मेडिकल ट्रॉली के सफल परीक्षण से कोरोना के प्रसार के रोकथाम के दिशा में उपयोगी साबित होगा। कोरोना संकट में चिकित्सा क्षेत्र में जरूरी समस्या समाधान के लिए चिरेका कर्मियों के इस तरह के अविष्कार रूपी खोज एक अनुकरणीय कदम भी साबित हो सकते है। चितरंजन रेल इंजन कारखाना के होनहार अभियंताओं की टीम का तैयार किया गया यह संयंत्र के सफलता को लेकर चितरंजन रेल इंजन कारखाना के जीएम प्रवीण कुमार मिश्रा ने पूरी टीम को बधाई दी है।

Shishir Sharan Rahi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned