RATHYATRA---श्रीजी की ऐतिहासिक रथयात्रा में झलकी श्रद्धा

दिगंबर जैन पाश्र्वनाथ उपवन मंदिर पहुंची 200 वर्ष प्राचीन रथयात्रा , कोविड-19 काल में सभी नियमों का हुआ पालन

By: Shishir Sharan Rahi

Published: 01 Dec 2020, 06:05 PM IST

KOLKATA NEWS-कोलकाता। कोविड-19 काल में कार्तिक पूर्णिमा पर भगवान पाश्र्वनाथ रथयात्रा सभी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए सोमवार को निकली। रथयात्रा को लेकर श्रद्धालुओं में उत्साह रहा। ऐतिहासिक 200 वर्ष प्राचीन रथयात्रा सोमवार सुबह 11 बजे श्रीदिगंबर जैन बड़ा मंदिर 1 बैशाख लेन से निकली। जो सर हरिराम गोयनका स्ट्रीट, रवीन्द्र सरणी, अरविंद सरणी, विधान सरणी, श्याम बाजार 5माथा मोड़, आरजीकर रोड होते हुए श्रीदिगंबर जैन पाश्र्वनाथ उपवन मंदिर बेलगछिया रोड पहुंची।रथयात्रा कमेटी के सदस्य सुरेंद्र जैन ने बताया कि कोविड-19 के मद्नेजर सभी सरकारी दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए कोलकाता पुलिस की ओर से रथयात्रा को अनुमति दी गई है। कोविड 19 के कारण रथयात्रा में केवल श्रीजी रथ, ढोलक गाड़ी, धूपगाड़ी ही रही।

इनका रहा खास सहयोग
श्रीदिगंबर जैन रथयात्रा कमेटी के कार्यवाहक मंत्री ललित जैन, वरिष्ठ सदस्य मोहरी लाल छाबड़ा, सक्रिय सदस्य भानू जैन, सुरेंद्र दगड़ा, सुरेंद्र जैन साहब, ज्ञानेंद्र पाटनी, दिलीप पाटनी, राजू काला, मनोज सरावगी पी.एम. का रथयात्रा में सक्रिय योगदान रहा। विशेष सहयोग अजय जैन, सुमित सरावगी, संजीव सिंघई, विशाल जैन, देवेश जैन आदि का रहा। श्रीजी के डाक बोलने की बोली-गुप्तदान, श्रीजी के सारथी-दीपचंद सनत, सुधीर कुमार छाबड़ा, श्रीजी के कुबेर-तेजराज जयकुमार, काशलीवाल, श्रीजी के रववासी-सुगनचंद, कमल कुमार लुहडिय़ा, श्रीजी के चंवरकर्ता प्रदीप कुमार , सौरव, उमंग सेठी रहे।

Shishir Sharan Rahi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned