BENGAL BHAGWAT GYAN----परोपकारी कार्यों के साथ मनाएं नए साल की खुशियां-मालीराम

सलकिया में श्रीमद् भागवत् सप्ताह ज्ञान यज्ञ

By: Shishir Sharan Rahi

Updated: 29 Dec 2020, 07:54 PM IST

BENGAL NEWS-हावड़ा। नववर्ष की पूर्व संध्या व नववर्ष के दिन तडक़-भडक़ भरे कार्यक्रमों में विपुल परिमाण में अर्थ व्यर्थ में बर्वाद होता है जबकि इस धनराशि से जरूरतमंदों के जीवन में खुशियां भरी जा सकती है। ऐसे लोगों की हमारे समाज में कमी नहीं जिनके पास दो जून की रोटी, शरीर पर पहनने के कपड़़े और रहने को सिर पर छत नहीं है। नववर्ष की खुशियां बेसहारों की मदद करके भी मना सकते हैं। सलकिया के जीटी रोड स्थित कृष्णा भवन में माधोप्रसाद रविकुमार चैधरी परिवार की ओर से आयोजित श्रीमद् भागवत् सप्ताह ज्ञान यज्ञ के षष्टम दिन भागवत् मर्मज्ञ पं. मालीराम शास्त्री ने यह उद्गार व्यक्त किए। उन्होंने कहा वर्तमान में जो विकट परिस्थिति चल रही है उसे दृष्टिगत रखते हुए हर एक व्यक्ति को बेहद संयम व सावधानी से चलने की जरुरत है। जिस महामारी से लगभग एक साल से पूरी दुनिया परेशान है वो अभी भी विद्यमान है लेकिन लोगों ने अब इसकी पूर्णत उपेक्षा शुरु कर दी है जो बेहद नुकसान भरा कदम हो सकता है। शास्त्री ने कहा कि जनजीवन को पटरी पर लाना जरुरी है लेकिन स्वयं और समाज की सुरक्षा के लिए निर्धारित नियमों का पालन भी जरुरी है। उन्होंने कहा कि व्यसनों से छुटकारा पाने के लिये नये साल का पहला दिन श्रेष्ठ है। शुभस्य शीघ्रम की उक्ति के साथ आपने बीते साल में जो-जो व्यसन पाल रखे थे, उन्हें नववर्ष के प्रथम सुप्रभात की बेला में अलविदा कहते हुए तिलाजंलि दे डालें। शास्त्री ने कहा कि केवल संकल्पों को उठा लेने से कुछ नहीं होगा बल्कि उसका निर्वाह जरूरी है। कथा प्रसंग के अनुसार रूक्मिणी विवाह व फूलों की होली का आयोजन हुआ। सप्तम दिवस की कथा के साथ सप्त दिवसीय कार्यक्रम सम्पन्न होगा।

Shishir Sharan Rahi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned