VIVEKANAND SEWA SAMMAN---नए भारत के निर्माण में युवाओं की भूमिका महत्वपूर्ण---शेखावत

कर्मयोगी बनवारीलाल सोती विवेकानन्द सेवा सम्मान से सम्मानित, बड़ाबाजार कुमारसभा पुस्तकालय का 35वां विवेकानंद सेवा सम्मान समारोह

By: Shishir Sharan Rahi

Published: 11 Jan 2021, 09:26 PM IST

BENGAL NEWS-कोलकाता। देश आज जिस मुकाम पर खड़ा है वहां हमें हर पल भारतीय होने पर गर्व महसूस होता है। इस मुकाम को पाने का रास्ता स्वामी विवेकानन्द जैसे प्रेरणा पुरुषों ने दिखाया है। नए भारत के निर्माण में युवाओं की भूमिका अत्यन्त महत्वपूर्ण है। केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने रविवार को यह उद्गार व्यक्त किए। बड़ाबाजार कुमारसभा पुस्तकालय की ओर से रथीन्द्र मंच में आयोजित 35वें विवेकानंद सेवा सम्मान समारोह में कर्मयोगी बनवारीलाल सोती को सम्मानित करने के उपरांत बतौर अध्यक्ष वे बोल रहे थे। शेखावत मे कहा कि स्वामी विवेकानन्द जिस भारत की बात करते थे उस भारत के निर्माण का संकल्प समाज के हर वर्ग को लेना होगा। बदलाव के इस दौर में हमें अपनी भूमिका पहचाननी होगी। उन्होंने कहा विवेकानन्द के ज्ञान, चरित्र और एकता के संदेश को वर्तमान परिप्रेक्ष में अपनाने की आवश्यकता है। खुशी है कि कुमारसभा अपने दायित्व का बखूबी निर्वहन कर रही है। प्रधान वक्ता भारतीय जनसंचार संस्थान के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी ने कहा कि सेवा की भावना हमारी परंपरा है इसलिए दरिद्र की सेवा करने वाला ही सच्चा महात्मा होता है। भारत को भारत की आत्मा से साक्षात्कार कराने में विवेकानन्द की सफल भूमिका रही है। उन्होंने कहा कि सत्य, शील और सेवा ही वह सच्ची तपस्या है जो आदमी को मनुष्य बनाती है। इस अर्थ में गीता और विवेकानन्द आधुनिक भारत के सर्वमान्य प्रेरणास्त्रोत हैं।

यह सम्मान मूल्यों का सम्मान--सोती
प्रधान अतिथि आयकर सलाहकार सज्जनकुमार तुल्स्यान ने विवेकानन्द के प्रेरक जीवन प्रसंगों का उल्लेख करते हुए उनके आदर्शों तथा सांस्कृतिक आध्यात्मिक योगदान की चर्चा की। कुमारसभा के प्रति अपना आभार व्यक्त करते हुए सोती ने कहा कि यह सम्मान मेरे माता पिता तथा सहयोगियों से प्राप्त मूल्यों का सम्मान है। यह मुझे मानव और गोसेवा में समर्पित रहने के लिए आजीवन प्रेरित करेगा। उन्होंने सम्मान स्वरूप प्राप्त 1 लाख रुपये की राशि को 2-गुना कर कुमारसभा पुस्तकालय को समर्पित कर दी। स्वागत भाषण करते हुए पुस्तकालय के अध्यक्ष डॉ. प्रेमशंकर त्रिपाठी ने विश्व हिन्दी दिवस, युवा दिवस एवं नववर्ष की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि सोती ने पुरुषार्थ से अर्जित अर्थ को परमार्थ के लिए समर्पित कर सदैव कृतार्थता का अनुभव किया है। योगेशराज उपाध्याय के वैदिक मंत्रों के साथ सोती का सम्मान किया गया।संचालन डॉ. तारा दुगड़ व धन्यवाद ज्ञापित पूर्व साहित्य मंत्री दुर्गा व्यास ने किया। मंत्री महावीर बजाज, राजेन्द्र खंडेलवाल, भागीरथ चांडक, अनिल ओझा नीरद एवं नन्दकुमार लड्ढ़ा ने अतिथियों का स्वागत किया। राजस्थान पर्यटन विकास निगम कोलकाता के प्रभारी अधिकारी हिंगलाज दान रतनू, डा. ऋषिकेश राय, बंशीधर शर्मा, महावीर प्रसाद रावत, मनोज पराशर, रणजीत लूणिया, सुनील हर्ष, मुल्तान पारीक, रविप्रताप सिंह, सागरमल गुप्त, राजकुमार व्यास, चंपालाल पारीक, रामगोपाल थानवी, भरतराम तिवारी, रामगोपाल चोटिया, नवीनकुमार सिंह, नंदलाल सिंघानिया, श्रीराम सोनी, डॉ. कमल कुमार, अमित शर्मा, अनुपम शर्मा, ओमप्रकाश बांगड, जीवन सिंह, मोहनलाल पारीक, रतन जैन, सत्यनारायण तिवाड़ी, सुरेन्द्र अग्रवाल, विशन सिखवाल, नरेन्द्र अग्रवाल, आनन्द पाण्डेय, विजय ओझा, रंजना त्रिपाठी, जयंती सरकार, गायत्री बजाज प्रभृति आदि उपस्थित थे।समारोह को सफल बनाने में अरुण प्रकाश मल्लावत, सत्यप्रकाश राय, मनोज काकडा, रामचन्द्र अग्रवाल, भागीरथ सारस्वत, मनीष मंत्री, अरुण सिंह, श्रीमोहन तिवारी प्रभृति सक्रिय थे।

Shishir Sharan Rahi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned