पश्चिम बंगाल: स्कूल के पाठ्यक्रम में शामिल किया जाएगा कोरोना

  • छात्रों को किया जाएगा जागरुक, बताए जाएंगे महामारी के लक्षण और बचाव के उपाय

By: Ashutosh Kumar Singh

Published: 30 Jun 2020, 03:00 PM IST

कोलकाता
पश्चिम बंगाल सरकार ने कोरोना संक्रमण के बारे में छात्रों को जागरूक करने के लिए 2021 से स्कूल के पाठ्यक्रम में इस घातक वायरस पर एक अध्याय शुरू करने पर विचार कर रहा है। इसमें छात्रों के अब इससे बचाव और पहचान संबंधी लक्षणों के बारे में पढ़ाया जाएगा। मंगलवार को शिक्षा विभाग के एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी।।

राज्य के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने हाल ही में इस मुद्दे को उठाया था। उन्होंने कहा था कि नोबेल कोरोना वायरस की प्रकृति के बारे में जानकारी का प्रसार कैसे किया जाए और प्रकोप को रोकने के लिए आवश्यक एहतियाती उपाय के बारे में भी बच्चों को जानकारी दी जाए। इसके लिए राज्य के शिक्षा विभाग में पाठ्यक्रम समिति के अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं।

पाठ्यक्रम समिति के अध्यक्ष अवीक मजूमदार ने इस बारे में बताया कि इस मुद्दे पर समिति के सदस्यों और विशेषज्ञों के बीच चर्चा की जा रपी है। मजूमदार ने कहा कि शिक्षकों और शिक्षाविदों के अलावा, हमें डॉक्टर, वैरोलॉजिस्ट, महामारी विज्ञानियों से बात कर उनके सुझावों को पाठ्यक्रम में शामिल करने के बारे में निर्णय लेना है।

एक अन्य अधिकारी ने कहा कि जूनियर से लेकर उच्च कक्षाओं तक कोरोना विषय पर पाठ्यक्रम पेश करने की योजना है। उन्होंने कहा कि जूनियर कक्षाओं में संक्रमण को रोकने के लिए बुनियादी स्वच्छता और सुरक्षा के उपायों को सीखना और उच्च कक्षा के छात्रों को यह पता होना चाहिए कि कोरोना के प्रकोप के मद्देनजर किस तरह से सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया जाए।

Corona virus COVID-19
Ashutosh Kumar Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned