पश्चिम बंगाल में भयमुक्त और निष्पक्ष चुनाव नहीं होते: राज्यपाल

  • अगले साल अप्रैल-मई में होने वाले पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के दौरान सरकारी मशीनरी को तटस्थ रहने का भी आग्रह किया

By: Ashutosh Kumar Singh

Published: 30 Dec 2020, 11:30 PM IST

धनखड़ ने शहर के पश्चिमी हिस्से में एक मंदिर में दर्शन के दौरान संवाददाताओं से कहा कि राज्य में बिना किसी भय के निष्पक्ष चुनाव नहीं होते हैं। यह उनके लिए यह केवल चिंता का विषय नहीं है, बल्कि यह उनका कर्तव्य है कि वे यह सुनिश्चित करें कि लोग बिना किसी भय के अपने मताधिकार का प्रयोग करें।

कोलकाता
पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने बुधवार को आरोप लगाया कि राज्य में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव नहीं होते हैं। उन्होंने कहा कि उनका कर्तव्य है कि वे यह सुनिश्चित करें कि लोगों को बिना किसी डर के अपने मताधिकार का प्रयोग करने का अवसर मिले। धनखड़ ने शहर के पश्चिमी हिस्से में एक मंदिर में दर्शन के दौरान संवाददाताओं से कहा कि राज्य में बिना किसी भय के निष्पक्ष चुनाव नहीं होते हैं। यह उनके लिए यह केवल चिंता का विषय नहीं है, बल्कि यह उनका कर्तव्य है कि वे यह सुनिश्चित करें कि लोग बिना किसी भय के अपने मताधिकार का प्रयोग करें।
उन्होंने अगले साल अप्रैल-मई में होने वाले पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों के दौरान सरकारी मशीनरी को तटस्थ रहने का भी आग्रह किया।

Ashutosh Kumar Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned