बेलूर के गैस पीडि़तों की नहीं ले रहा कोई सुध

- अपने पैसे खर्च कर करा रहे हैं ईलाज- अभी भी पीडि़तों को हो रही हैं उल्टियां

By: Paritosh Dube

Published: 10 Feb 2018, 10:10 PM IST

सोमवार को रिसाव की चपेट में आकर बीमार हुए थे 70

हावड़ा. बेलूर के लोहे गोदाम में सुरक्षा नियमों को ताक पर रखकर गैस सिलेंडर कटाव के दौरान हुईगैस रिसाव की चपेट में आए पीडि़त घटना गुजरने के छह दिन बाद भी समस्या से पीडि़त हैं। कई पीडि़त अभी भी उल्टी, पेट खराब, सांस लेने में तकलीफ जैसे लक्षणों के शिकार हैं।

उन्हें इस बात का दुख भी है कोई उनकी सुध लेने नहीं आ रहा है। इलाके का निरीक्षण कर चुकी जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम भी चुप्पी साधे हुए है। लोगों को अपनी जेब से खर्च कर उपचार कराना पड़ रहा है। अब तक मुआवजे की कोई घोषणा नहीं हुई है।
जगन्नाथ घाट के समीप जगन्नाथ मंदिर के पुजारी के भाई की पत्नी और गैस पीडि़त सान्ना पाण्डेय(60) अभी भी कोलकाता मेडिकल कॉलेज में भर्ती हैं। उनके परिजन व्यंकटेश पांडे ने बताया कि गैस रिसाव के बाद से ही उनकी तबियत ठीक नहीं हुई है। अपनों पैसों से इलाज कराना पड़ रहा है।

लालबाबू सायर रोड के निवासी विश्वनाथ हल्दर ने बताया कि उनके परिवार में पांच जने गैस पीडि़त हैं। उनकी सुध लेने कोई नहीं आ रहा है। घटना के दिन पुलिस व दमकल के अधिकारियों ने रिसते सिलेंडर को उनके आवास के आसपास लाकर फेंक दिया। कई पीडि़तों को अभी भी उल्टियां हो रही हैं।
स्थानीय लोगों में इस बात का आतंक भी है कि बजरंगबली मार्केट स्थित गोदाम में अभी भी चार गैस सिलेंडर पड़े है। इसमें दो फूटे हुए हैं। एक का मुंह खुला हुआ है और एक पूरी तरह से पैक है।

पुलिस ने सौंपी जांच रिपोर्ट

बेलूर थाना इलाके के गिरीश घोष रोड स्थित संदीप इंड्रस्ट्रीज स्थित गोदाम के तीनों मालिक फरार हंै। पुलिस की टीम उनकी गिरफ्तारी के लिए संभावित ठिकानों पर लगातार छापामारी अभियान चला रही है। पुलिस ने इस घटना संबंधित एक रिपोर्ट एडीएम(जी )को सांैप दी है।

इधर,बजरंगबली लोहा मार्केट के आस पास के गोदाम में व्यापार सामान्य हो गया है। पुलिस ने गोदाम के एक ही परिवार के तीन मालिकों के खिलाफ आईपीसी धारा 308 के तहत मामला दर्ज किया है।

बेलूर के थाना प्रभारी स्वपन साहा ने बताया कि आरोपियों की तलाश में लगातार छापामारी अभियान चलाया जा रहा है। उनकी गिरफ्तारी के लिए कोलकाता - हावड़ा और अन्य संभावित ठिकानों पर छापेमारी जारी है।

Paritosh Dube Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned