West Bengal: बिजली की रोशनी से इस तरह नहाएगा गंगासागर मेला

पश्चिम बंगाल सरकार मकर संक्रांति पर सागरक्षेत्र में लगने वाले गंगासागर मेले के दौरान बिजली का पुख्ता इंतजाम करने जा रही है।

By: Prabhat Kumar Gupta

Published: 08 Dec 2019, 07:00 AM IST

कोलकाता.
पश्चिम बंगाल सरकार मकर संक्रांति पर सागरक्षेत्र में लगने वाले गंगासागर मेले के दौरान बिजली का पुख्ता इंतजाम करने जा रही है। राज्य सरकार का ऐसा दावा है कि मेले में पुण्यार्थी रात का एहसास नहीं कर पाएंगे। चमचमती बिजली के उपकरणों की मानो भरमार रहेगी। जहां देश के दूर दूर से आए पुण्यार्थी मेले का लुत्फ उठाएंगे। एक सप्ताह तक चलने वाले इस मेले में हर साल लाखों की संख्या में पुण्यार्थी पुण्य स्नान के लिए यहां आते हैं।

राज्य सरकार के विभिन्न विभाग पुण्यार्थियों के लिए बुनियादी सुविधाएं विकसित करने की दिशा में विभागीय स्तर पर आवश्यक कदम उठा रहे हैं। मेले के दौरान 24 घंटे बिजली आपूर्ति राज्य सरकार के लिए सबसे चुनौती है। इसे ध्यान में रखते हुए बिजली मंत्री शोभनदेव चट्टोपाध्याय ने काकद्वीप, लॉट संख्या-8, नामखाना, कचूबेडिय़ा और चेमागुड़ी के अलावा मेला क्षेत्र में त्रिस्तरीय बिजली व्यवस्था का बंदोबस्त करने को लेकर संबंधित अधिकारियों के साथ हाल ही में बैठक की।

बिजली मंत्री ने पत्रिका के साथ बातचीत में कहा कि उनका विभाग मेला क्षेत्र में बिजली व्यवस्था के लिए छह करोड़ रुपए की मांग सरकार से की है। ताकि मेले के दौरान एक मिनट के लिए बिजली गुल नहीं हो। विभाग ने उच्च क्षमता वाला 107 जेनरेटर शेट तैनात करने का निर्णय लिया है। जहां से 2744 किलो वॉट बिजली की सप्लाई होगी। इसके लिए बुनियादी ढांचे के पीछे करीब 4.5 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है।

बिजली मंत्री ने बताया कि जेनरेटर तैनात रहने के बावजूद बैक अप बिजली सप्लाई के लिए समपरिमाण में बिजली की व्यवस्था होगी। मंत्री के अनुसार मेले में हर साल दो स्तरीय बिजली लाइन होती है, इस बार विभाग विकल्प के रूप में त्रिस्तरीय लाइन की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्णय लिया है।

Show More
Prabhat Kumar Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned