ममता बनर्जी सरकार ने इस तरह बढ़ाया बंगाल का हस्तशिल्प का मान

पश्चिम बंगाल में हस्तशिल्प को पुनरुज्जीवित करने तथा विश्व के दरबार में उसकी पहचान को फिर से प्रतिष्ठित करने के लिए राज्य सरकार ने जोरदार पहल की है।

By: Prabhat Kumar Gupta

Published: 08 Dec 2019, 03:50 PM IST

कोलकाता.
पश्चिम बंगाल में हस्तशिल्प को पुनरुज्जीवित करने तथा विश्व के दरबार में उसकी पहचान को फिर से प्रतिष्ठित करने के लिए राज्य सरकार ने जोरदार पहल की है। यूनेस्को के सहयोग से राज्य में करीब 10 ग्रामीण हस्तशिल्प को स्थापित किया गया है। इससे करीब 25,000 कारीगर जुड़े हैं।

अखिल भारतीय हैंडीक्राफ्ट्स वीक के प्रथम दिन रविवार को राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ऐसा दावा किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार राज्य में हस्तशिल्प को बढ़ावा देने तथा प्रचार-प्रसार के लिए विश्व बांग्ला विपणन केंद्र भी खोला है। जहां भारी मात्रा में हस्तशिल्प के उत्पादों को प्रदर्शित किया गया है।

सोशल नेटवर्क ट्वीटर हैंडल पर ममता ने राज्य की हस्तशिल्प को विश्व का सबसे उम्दा उत्पाद करार दिया है। सीएम ने कहा कि पश्चिम बंगाल लघु-कुटीर उद्योग तथा व विभाग ने वर्तमान में फैशन को ध्यान में रखते हुए नई नई नक्काशी और नए डिजाइनों की साडिय़ां तथा इंटिरियर डेकोरेशन के तरह-तरह के आकर्षक सामानों के उत्पादन पर जोर दे रहा है। समाज के हर स्तर तक बंगाल के हस्तशिल्प को पहुंचाने तथा उसके प्रति जागरूकता फैलाने पर ममता ने जोर दिया है।

Prabhat Kumar Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned