बिजली शुल्क घटाने की मांग पर कोलकाता का सेन्ट्रल एवेन्यू बना रणक्षेत्र

West Bengal के Kolkata में electricity tariff कम करने की मांग पर निकली भाजयुमो की रैली पर लाठी चार्ज में 50 घायल और 85 गिरफ्तार

By: Manoj Singh

Published: 11 Sep 2019, 07:07 PM IST

युवा मोर्चा की रैली पर लाठी चार्ज में दर्जनों 50 घायल, 85 गिरफ्तार
बिजली शुल्क वृद्धि के खिलाफ सीईएससी मुख्यालय घेरने गए थे भाजपाई
शान्तिपूर्ण रैली पर पुलिस ने की लाठी चार्ज- सायंतन बसु
कोलकाता
देश में सबसे अधिक बिजली शुल्क वसूलने वाली नीजि कंपनी कलकत्ता इलेक्ट्रिक सप्लाई कॉरपोरेशन (सीईएससी) के खिलाफ बुधवार सुबह भाजपा के भारतीय जनता युवा मोर्चा (भाजयुमो) की रैली को पुलिस ने रोका तो मध्य कोलकाता का सेन्ट्रल एवन्यू रण क्षेत्र बन गया।
पुलिस ने रैली मेें आए लोगों पर आंसू गैस के गोले दागे, लाठीचार्ज की और पानी के बौछाड़ की। इसमें दर्जनों भाजपा कार्यकर्ता घायल हो गए। इनमें से पांच गंभीर रुप से घायल हैं. जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने 85 पार्टी कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार की, जिसमें भाजयुमो के प्रदेश अध्यक्ष देवजीत सरकार शामिल हैं।
इस दिन सुबह भाजयुमो ने देश में सबसे अधिक बिजली शुल्क वसूल रही नीजि कंपनी कलकत्ता इलेक्ट्रिक सप्लाई कॉरपोरेशन (सीईएससी) के खिलाफ रैली निकाली। देवजीत सरकार के नेतृत्व में निकली रैली मध्य कोलकाता स्थित प्रदेश भाजपा मुख्यालय से शुरु हुई और धर्मतल्ला स्थित सीईएससी मुख्यालय का घेराव करने के लिए सेन्ट्रल एवन्यू होते हुए आगे बढ़ी। लेकिन पुलिस ने रैली को वहां जाने से रोक दिया।
आगे बढऩे के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं ने सीर्ईएससी मुख्यालय से पहले रैली को रोकने के लिए सेन्ट्रल एवेन्यू पर बने पुलिस के तीन बैरिकेट तोडऩे की कोशिश की पुलिस ने जवाबी कार्रवाई शुरू कर दी और देखते ही देखते समूचा इलाका रणक्षेत्र में बदल गया। स्थिति को काबू में करने के लिए पुलिस ने आंसू गैस के गोले दांगे, लाठीचार्ज की और पानी के बौछार की। रैली पर लाठीचार्ज और पानी के बौछार छोडऩे के विरोध में पार्टी कार्यकर्ता और नेता देर तक सेन्ट्रल एवन्यू पर धरना पर बैठे रहे।
50 घायल, 85 भाजपा कार्यकर्ता गिरफ्तार
पुलिस कार्रवाई में भाजपा के दर्जनों कार्यकर्ता घायल हो गए। इनमें से कुछ गंभीर रूप से घायल है, जिन्हें कलकत्ता मेडीकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। सायंतन बसु ने दावा किया कि पुलिसिया कार्रवाई में उनके 50 कार्यकर्ता घायल हुए हैं, जिनमें से पांच को गंभीर चोटे आई हैं।
पुलिस ने 85 लोगों को गिरफ्तार कर ली, जिसमें प्रदेश युवा मोर्चा अध्यक्ष देवजीत सरकार के अलावा प्रदेश भाजपा के महासचिव सायंतन बसु और राजु बनर्जी समेत पार्टी के अन्य नेता शामिल थे। सायंतन बसु ने कहा कि बंगाल में लोकतंत्र नहीं है। हम अधिक बिजली शुल्क लेने के विरोध में लोकतांत्रिक तरीके से शान्तिपूर्ण रैली कर रहे थे। लेकिन प्रशासन ने हमे आंदोलन नहीं करने दी।

Show More
Manoj Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned