West Bengal Assembly Elections 2021: ममता ने कहा- आठ चरणों में चुनाव लोगों को मौत के मुंह में धकेलने की साजिश

  • ममता ने अगले चरण के मतदान में केंद्रीय बलों को हटाने की मांग करते हुए कहा कि मैं अनुरोध करती हूं कि कृपया कर कोविड-19 प्रभावित राज्यों से लाए गए करीब दो लाख केंद्रीय बलों के जवानों को वापस भेजा जाए, जो स्कूलों, कॉलेजों और सुरक्षित आश्रयों में रह रहे हैं और कोविड-19 प्रबंधन को बाधित कर रहे हैं...

By: Ashutosh Kumar Singh

Published: 26 Apr 2021, 11:43 PM IST

कोलकाता
तृणमूल कांग्रेस प्रमुख और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोविड-19 के बेलगाम संक्रमण के बावजूद चुनावी रैलियों पर रोक लगाने में विफल चुनाव आयोग को लेकर मद्रास हाईकोर्ट की तीखी टिप्पणी का सोमवार को स्वागत किया। हाई कोर्ट ने कह दिया कि कोरोना वायरस की दूसरी लहर के लिए चुनाव आयोग ही जिम्मेदार है। चुनाव आयोग के अधिकारियों के खिलाफ हत्या की धाराओं के तहत मामले दर्ज किए जाने चाहिए। ममता बनर्जी ने कहा कि मद्रास हाई कोर्ट ने चुनाव आयोग को लेकर जो कहा है वह स्वागत योग्य है। उन्होंने आरोप लगाया कि बंगाल के लोगों को मौत के घाट उतारने की साजिश के तहत आठ चरणों में चुनाव कराए गए। तीसरे चरण के बाद ही कोविड की दूसरी लहर तेज हो गई थी और मैंने आयोग को चि_ी लिखकर बाकी चरणों के चुनाव एक साथ संपन्न कराने की अपील की थी, लेकिन नहीं मानी गई। सब कुछ भाजपा के इशारे पर किया गया।
ममता ने अगले चरण के मतदान में केंद्रीय बलों को हटाने की मांग करते हुए कहा कि मैं अनुरोध करती हूं कि कृपया कर कोविड-19 प्रभावित राज्यों से लाए गए करीब दो लाख केंद्रीय बलों के जवानों को वापस भेजा जाए, जो स्कूलों, कॉलेजों और सुरक्षित आश्रयों में रह रहे हैं और कोविड-19 प्रबंधन को बाधित कर रहे हैं, जवान कोरोना फैला रहे हैं। उन्हें तृणमूल के कैंप ऑफिस में घुसने नहीं दिया जाएगा। कृपया कर उन्हें अंतिम चरण के चुनाव से हटाया जाए।
हालांकि सुरक्षा बल के जो जवान चुनावी ड्यूटी में लगे हैं वह कोविड-19 वैक्सीन के दोनों डोज ले चुके हैं और उन्हें ना तो संक्रमण का खतरा है और ना ही उनसे संक्रमण फैलने का खतरा है। बावजूद इसके ममता बनर्जी लगातार उन्हें निशाना बना रही हैं और बंगाल से बाहर भगाने की चेतावनी दे रही हैं।
--
भाजपा को लाभ पहुंचाने 8 चरण में चुनाव
प्रचार के आखिरी दिन भी उन्होंने आरोप लगाया कि नंदीग्राम के 10 मतदान केंद्रों पर सेंट्रल फोर्स ने चुनावी धांधली में मदद की। ममता बनर्जी ने कहा कि आठ चरणों में चुनाव भारतीय जनता पार्टी को लाभ पहुंचाने के लिए कराए गए। असम में दो और तमिलनाडु, केरल में एक चरण में चुनाव कराए गए लेकिन यहां भाजपा के फायदे के लिए आठ चरणों में वोटिंग की गई।
--
दावा, तृणमूल को मिलेगा बहुमत
तृणमूल प्रमुख ने दावा किया कि इसके बावजूद भाजपा को कोई लाभ नहीं होगा। तृणमूल कांग्रेस को बहुमत मिलेगा और भाजपा खरीद-फरोख्त भी नहीं कर पाएगी। उन्होंने कहा कि मैंने 50 दिनों तक चुनाव प्रचार किया है अब वह अपना प्रचार खत्म कर रही हूं। भाजपा नेताओं पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि आयोग की रोक के बावजूद भाजपा नेताओं की रैलियां हो रही हैं और लाखों लोग आ रहे हैं। कोई देखने पूछने वाला नहीं है।

Ashutosh Kumar Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned