जादवपुर यूनिवर्सिटी में मंत्री बाबुल पर हमला, राज्यपाल का रास्ता रोका

जादवपुर यूनिवर्सिटी में मंत्री बाबुल पर हमला, राज्यपाल का रास्ता रोका
जादवपुर यूनिवर्सिटी में मंत्री बाबुल पर हमला, राज्यपाल का रास्ता रोका

Ashutosh Kumar Singh | Publish: Sep, 19 2019 10:46:07 PM (IST) Kolkata, Kolkata, West Bengal, India

- हिंसा, तोडफ़ोड़, आगजनी, आरोप वामपंथी समर्थित छात्र संगठन के छात्रों पर

- राज्यपाल बोले, गंभीर मामला, वीसी से रिपोर्ट तलब की

कोलकाता

भाजपा सांसद (BJP MP)और केन्द्रीय राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो (Babul Suprio) के साथ गुरुवार को कोलकाता के जादवपुर विश्वविद्यालय (जेयू) में धक्का-मुक्की और बदसलूकी की गई। उनका कुर्ता फाड़ दिया गया। वे जमीन पर गिर पड़े। उनके अंगरक्षकों पर भी हमला किया गया। खबर सुनकर राज्यपाल जगदीप धनखड़ जब मौके पर पहुंचे तो वामपंथी छात्रों ने उनका भी रास्ता रोक लिया। उनकी गाड़ी पर मुक्का मारा, हंगामा किया। पास में तोडफ़ोड़ तथा आगजनी की। धक्का-मुक्की में कुलपति सुरंजन दास एवं सह कुलपति प्रदीप कुमार घोष को भी चोट आई है। दोनों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस पूरे मामले को गंभीर करार देते हुए राज्यपाल ने घटना के बारे में विश्वविद्यालय के कुलपति सुरंजन दास से रिपोर्ट तलब की है। सूत्रों के मुताबिक दास को इस्तीफा देने को कहा गया है। नई दिल्ली दौरे पर गईं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी को पूरे मामले पर नजर रखने को कहा है।

बाबुल सुप्रियो जादवपुर विश्वविद्यालय में भाजपा समर्थित छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के एक कार्यक्रम में शामिल होने गए थे। जैसे ही वे विश्वविद्यालय परिषद में पहुंचे छात्रों के एक समूह ने उनपर हमला बोल दिया। पहले गो-बैक के नारे लगाए और उनके साथ धक्का-मुक्की शुरू कर दी। हमलावर छात्र कॉलर पकड़ कर बाहर खींचने लगे। अंगरक्षकों ने विरोध किया तो हमलावर छात्र उन पर भी टूट पड़े।

जादवपुर विश्वविद्यालय में एबीवीपी की ओर से स्वाधीनता के बाद भारत में शासन व्यवस्था विषय पर केपी बसु मेमोरियल हॉल में व्याख्यान का आयोजन किया गया था। बाबुल सुप्रियो इसमें बतौर अतिथि आमंत्रित थे।

-------------

मुख्य सचिव उठाएं तुरंत कदम-धनखड़

राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कहा कि जादवपुर विश्वविद्यालय में छात्रों के एक समूह द्वारा केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो का घेराव किया जाना एक गंभीर मुद्दा है। उन्होंने घटना के संबंध में राज्य के मुख्य सचिव को तुरंत कदम उठाने को कहा है। मुख्य सचिव मलय दे ने विश्वविद्यालय के कुलाधिपति राज्यपाल को आश्वस्त किया कि महानगर के पुलिस आयुक्त को फौरन मामले पर गौर करने का निर्देश दिया गया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned