Narada bribery scandal: नारदा काण्ड में पहली गिरफ्तारी, तृणमूल के दर्जन नेता कतार में

नारदा रिश्वत स्टिंग काण्ड में आईपीएस एसएमएच मिर्जा को गिरफ्तार करने से पहले सीबीआई ने उसकी आवाज के नमूने और नारदा रिश्वत स्टिंग ऑपरेशन के फूटेज में सुनाई देने वाली उनकी आवाज की फॉरेंसिक जांच करवाई। जब दोनों आवाज मिर्जा की आवाज प्रमाणित होने और टेलीफोन पर उनसे बातचीत करने वाले और जिसे पैसे पहुंचाने की बात कर रहे थे उस व्यक्त का नाम नहीं बताने पर सीबीआई ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

By: Manoj Singh

Published: 26 Sep 2019, 05:48 PM IST

नारदा रिश्वत काण्ड में आईपीएस मिर्जा गिरफ्तार, 30 तक सीबीआई हिरासत में

इम मामले में हुई पहली गिरफ्तारी, ममता बनर्जी के एक दर्जन नेता और मंत्री है आरोपी
कोलकाता
सीबीआई ने गुरुवार को पिछले पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान तृणणूल कांग्रेस के खिलाफ भूचाल लाने वाले नारदा रिश्वत स्टिंग काण्ड में राज्य के आईपीएस अधिकारी एसएमएच मिर्जा को गिरफ्तार कर लिया। इससे पहले इस काण्ड की जांच कर रही केन्द्रीय जांच एजेंसी ने मिर्जा की आवाज के नमूने और नारदा रिश्वत स्टिंग ऑपरेशन के फूटेज में सुनाई देने वाली उनकी आवाज की फॉरेंसिक जांच करवाई। जब दोनों आवाज मिर्जा की आवाज प्रमाणित होने और तथ्य छुवाने के कारण सीबीआई ने उसे गिरफ्तार कर लिया।
वर्ष 2016 के विधानसभा चुनाव से पहले नारद समाचार पोर्ट के सीईओ मैथ्यु सैमुअल ने बंगाल की सत्ताधारी पार्टी तृणमूल कांग्रेस के एक दर्जन विधायक, सांसद , नेता, मंत्रियों और आइपीएस के स्टिंग ऑपरेश का वीडीओ फूटेज जारी किया था।

उस वीडीओ फूटेज में तृणमूल कांग्रेस के नेता और बंगाल के मंत्री सरकारी काम कराने के लिए नोटो की गड्डी लेते हुए दिखाई दिए थे। तब वे बर्दवान के एसपी थे। लेकिन एसएमएच मिर्जा इस काण्ड के पहले आरोपी है, जिसे सीबीआई ने गिरफ्तार किया है।

Narada bribery scandal: नारदा काण्ड में पहली गिरफ्तारी, तृणमूल के दर्जन नेता कतार में

गिरफ्तार करने के बाद सीबीआई ने मिर्जा को कोलकाता के चीफ मेट्रपोलिटेंट स्थित सीबीआई कोर्ट में पेश की। सीबीआई कोर्ट से मिर्जा को पूछताछ करने के लिए पांच दिन के लिए अपने हिरासत देने की मांग की। इसके बाद कोर्ट ने उसे 30 सितंबर तक सीबीआई हिरासत में भेज दिया। वह मिर्जा से पूछेगी कि रिश्वत में लिए गए पैसे कहां गए। रिश्वत में लिए गए पैसे का हिस्सा वह किन-किन लोगों के पास पहुंचाता था।
सात बार पूछताछ के बाद मिर्जा हुआ गिरफ्तार
आवाज की फॉरेंसिक जांच रिपोर्ट आने के बाद सीबीआई ने गुरुवार सुबह को मिर्जा को पूछताछ करने के लिए कोलकाता के निजाम पैलेस स्थित अपने कार्यालय बुलाया। सीबीआई के अधिकारियों ने उससे बारी-बारी से सात बार पूछताछ की।

सीबीआई के सूत्रों ने बताया कि पूछताछ के दौरान पूछे गए सवालों के उनके जवाब और उनके बैंक स्टेटमेन्ट में मेल नहीं खाने, वीडीओ फूटेज में वह किस व्यक्ति से टेलीफोन पर बातचीत कर पैसे पहुंचाने की बात करते रहे थे उसका नाम नहीं बताने और तथ्य छुपाने की कोशिश करने पर सीबीआई ने उसे गिरफ्तार कर लिया।
फूटेज में ये लोग भी नोटो की गड्डी लेते हुए दिखे
नारद स्टिंग ऑपरेश के वीडीओ फूटेज में मिर्जा के अलावा तृणमूल कांग्रेस के नेता मैथ्यु सैमुअल से नोटों की गड्डी लेते हुए दिखाई दिए हैं। वीडीओ फूटेज में तृणमूल कांग्रेस के हावड़ा से सांसद प्रसून बनर्जी, सांसद सौगत राय, विधायक इकबाल अहमद, कोलकाता के पूर्व मेयर शोभन चटर्जी, काकुली घोष दस्तीदार, राज्य के शहरी विकास मंत्री और कौलाकात के मौजूदा मेयर फिरहाद हकीम और पंचायत मंत्री सुब्रत मुखर्जी सरकार काम करने के लिए नोटों की गड्डी लेते दिखाई दिए।

Narada bribery scandal: नारदा काण्ड में पहली गिरफ्तारी, तृणमूल के दर्जन नेता कतार में

इसके अलावा नारदा स्टिंग ऑपरेशन के वीडीओं में कभी ममता बनर्जी के लेफ्टीनेंट रहे मुकुल राय भी स्टिंग ऑपरेशन करने वाले मैथ्यु सैमुअल से बातचीत करते दिखाई दिए। लेकिन फूटेज में वे पैसे लेते दिखाई नहीं दए थे। नोटों की गड्डी लेने वालों में विधायक इकबाल अहमद के भाई और तृणमूल कांग्रेस के पूर्व सांसद सुल्तान अहमद भी थे, लेकिन उनका निधन हो गया है।
विपक्षी दलों ने किया स्वागत
विपक्षी दलों ने नारदा स्टिंग ऑपरेशन के आरोपी आईपीएस अधिकारी एसएमएच मिर्जा की गिरफ्तारी का स्वागत जताया है। माकपा नेता और वाम मोर्चा विधायक दल के नेता सूजन चक्रवर्ती ने कहा कि यह दूरभाग्य की बात है कि कानून-व्यवस्था का काम देखने वाला एक आईपीएस अधिकारी सत्ताधारी पार्टी के नेताओं और मंत्रियों के लिए लाइजनिंग और रिश्वत लेने का काम करते था। सीबीआई को इसे बहुत पहले ही गिरफ्तार कर लेना चाहिए था। फिर भी देर ही सही पर सीबीआई ने बहुत अच्छा काम किया है।
प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि एसएमएच मिर्जा से पूछताछ करने पर और भी प्रभावशाली लोगों के नाम बाहर आएंगे। भाजपा के राष्ट्रीय सचिव राहुल सिन्हा ने कहा कि नारदा रिश्वत काण्ड में तृणमूल कांग्रेस के बहुत सारे नेता लप्त हैं। मिर्जा से पूछताछ करने पर उनके खिलाफ सबूज मिलेगा।

Show More
Manoj Singh Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned