अब 1 जून से चलेगी 200 और ट्रेनें

WEST BENGAL NEWS: रेल मंत्रालय ने की अपील, रेल मंत्री पीयूष गोयल का ट्विट, पहले से बीमारी से जूझ रहे लोग यात्रा से करें परहेज

By: Shishir Sharan Rahi

Published: 29 May 2020, 05:44 PM IST

कोलकाता/नई दिल्ली. कोरोना महामारी के संक्रमण रोकने के लिए लागू लॉकडाउन 4.0 की समय-सीमा 31 मई को खत्म होने के बाद अब रेलवे 1 जून से देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे लोगों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए 200 स्पेशल ट्रेन चलाने जा रहा है। ये स्पेशल ट्रेन सोमवार से रेल ट्रैक पर दौडऩे लगेंगी। इन ट्रेनों में सफर के लिए 22 मई से ही टिकटों की बुकिंग शुरू हो गई थी। उधर रेल यात्रा के दौरान कई श्रमिकों की मौत के बाद रेलवे ने यात्रियों से अपील की है। रेलवे की अपील में पहले से बीमारियों से ग्रस्त लोग, गर्भवती महिलाएं, 10 साल से कम आयु के बच्चे और 65 साल से अधिक आयु के बुजुर्गों को रेल सफर से बचने की सलाह दी गई है। रेलवे ने कहा है कि ऐसा देखा गया है कि पहले से ही किसी बीमारी से जूझ रहे लोग श्रमिक ट्रेनों में यात्रा कर रहे जिससे कोरोना संक्रमण बढ़ जाता है। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने इस संंबध में ट्विट किया है। गोयल ने ट्विटर वॉल पर लिखा है.... मेरी सभी नागरिकों से अपील है कि गंभीर रोग से ग्रस्त, गर्भवती महिलाएं व 65 से अधिक व 10 वर्ष से कम आयु के व्यक्ति श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में बहुत आवश्यक होने पर ही यात्रा करें। रेल परिवार यात्रियों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। रेल मंत्रालय ने यात्रियों से अपील की है कि भारतीय रेल देशभर में प्रतिदिन कई श्रमिक स्पेशल ट्रेंने चला रहा ताकि प्रवासियों की अपने घरों को वापसी सुनिश्चित की जा सके। यह देखा जा रहा कि कुछ ऐसे लोग भी श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में यात्रा कर रहे हैं जो पहले से ही ऐसी बीमारियों से पीडि़त हैं। इससे कोविड-19 महामारी के दौरान उनके स्वास्थ्य को खतरा बढ़ जाता है। यात्रा के दौरान पूर्व ग्रसित बीमारियों से लोगों की मृत्यु के मामले मिले। रेल मंत्रालय ने अपील की है कि देश के नागरिकों को निर्बाध रूप से रेल सेवा मिलती रहे इसके लिए भारतीय रेल का परिवार 24 घंटे, सातों दिन कार्य कर रहा है। लेकिन यात्रियों की सुरक्षा हमारी सबसे बड़ी प्राथमिकता है और इसके लिए सभी देशवासियों का सहयोग अपेक्षित है। किसी भी कठिनाई या आकस्मिकता पडऩे पर रेल परिवार से संपर्क करने में हिचकिचाएं नहीं। भारतीय रेल सेवा में हमेशा की तरह तत्पर है।

उधर दूसरे राज्यों में फंसे प्रवासी श्रमिकों को लेकर स्पेशल ट्रेन बंगाल पहुंची
उधर लॉकडाउन के कारण 2 महीने से ज्यादा समय से देश के विभिन्न हिस्सों में फंसे प्रवासी श्रमिकों, तीर्थ यात्रियों व अन्य को लेकर बंगाल में श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का पहुंचना शुरू हो गया है। बुधवार-गुरुवार को हावड़ा सहित राज्य के विभिन्न स्टेशनों पर 30 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें पहुंची। इनमें सबसे ज्यादा महाराष्ट्र से स्पेशल ट्रेनें पहुंची है। इसके अलावा केरल, गुजरात, राजस्थान सहित अन्य राज्यों से आई है। साउथ-ईस्टर्न और ईस्टर्न रेलवे सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। 2 दिनों में 30 ट्रेनें यहां पहुंची जिसमें 2 स्पेशल ट्रेन गुरुवार शाम हावड़ा आई जबकि बाकी का रूट डायवर्ट कर दिया गया। इन सभी 30 ट्रेनों के पहले हावड़ा ही आने की बात थी। बाद में रूट डाइवर्ट कर इनमें से कुछ को खडग़पुर, डानकुनी, आसनसोल, बर्दवान, दुर्गापुर, रामपुरहाट, मालदा और अंत में एनजेपी स्टेशन लेकर जाया गया।

Shishir Sharan Rahi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned