KARGIL-HERO-घायल होने के बावजूद कई घन्टे तक दिया दुश्मनों को मुंहतो? जवाब

कारगिल युद्ध मे शहीद शूरवीरो मे शामिल था कोलकाता का भी जांबाज, महज 22 साल की उम्र मे कारगिल युद्ध मे शहीद हुआ था लेफ्टिनेंट कनाद भट्टाचार्य , मरणोपरांत सेना मेडल से सम्मानित , शहादत पर बारानगर वासियों को आज भी है नाज, कारगिल विजय दिवस पर पत्रिका खास

By: Shishir Sharan Rahi

Updated: 27 Jul 2020, 05:23 PM IST

BENGAL KARGIL HERO: कोलकाता. मई-जुलाई 1999 के दरम्यान कारगिल युद्ध मे शहीद होने वाले शूरवीरो मे कोलकता का जांबाज युवा लेफ्टिनेंट कनाद भट्टाचार्य भी शामिल था। महज 22 साल की उम्र मे ही कारगिल युद्ध के दौरान शहीद शूरवीरो मे लेफ्टिनेंट कनद भट्टाचार्य कोलकाता का एकमात्र जांबाज था। महानगर के बीटी रोड स्थित बनहुगली के समीप बारानगर निवासी कनाद की शहादत पर बारानगर निवासियों को आज भी नाज है। अपने इस शूरवीर के सम्मान मे बीटी रोड पर स्थित एक पार्क के सामने कनाद की आदमकद प्रतिमा स्थापित की गई है। जहा हर साल कारगिल विजय दिवस पर पुष्पांजलि अर्पित कर उसकी शहादत को याद किया जाता है। कनाद के निवास स्थान बीटी रोड पर श्रीटावर के निवासियो को उसकी शहादत पर फक्र है। कमलकान्त भट्टाचार्य व पूर्णिमा भट्टाचार्य के पुत्र कनाद की कारगिल युद्ध मे अदम्य साहस और दिलेरी पर भारत सरकार की ओर से मरणोपरांत सेना मेडल से सम्मानित किया गया था। सैन्य सूत्रों के मुताबिक 8वी सिख रेजिमेंट के तहत सेवा दे चुके लेफ्टिनेंट कनाद ने टाइगर हिल पर भारतीय सैन्य कार्रवाई का नेतृत्व किया था। लेह-बाटलिक रोड पर बातनिक के समीप 4 जुलाई 1999 को भारतीय वायु सेना ने आपरेशन विजय के तहत हवाई हमले शुरू किए थे। जबकि इससे पहले ही कनाद के नेतृत्व मे 8 अन्य रैंक की सैन्य गश्त टुकङी के साथ कनाद को टाइगर हिल पर मोर्चा सम्भालने का जिम्मा सौंपा गया था।
टाइगर हिल पर सम्भाला था मोर्चा

साथी सैनिको की संख्या दुश्मन के मुकाबले कम होने के बावजूद घायल होने पर भी कनाद ने कई घन्टे तक मुंहतो? जवाब दिया। अन्तिम सांस तक उसने टाइगर हिल पर दुश्मनों को आगे बढऩे नही दिया। चारों ओर बर्फ से ढके इस इलाके मे आखिरकार 21 मई1999 को उसे लापता घोषित कर दिया गया। बाद मे वायु सेना के अभियान के दौरान उसकी खोज की गई थी।

Shishir Sharan Rahi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned