MARITIME INDIA SUMMIT-2021 मैरीटाइम इंडिया समिट-2021 का उद्घाटन 2 को

दूसरे मैरीटाइम इंडिया समिट में भारतीय समुद्री क्षेत्र में निवेश पर होगा जोर, प्रेस क्लब में श्यामा प्रसाद मुखर्जी पोर्ट के चेयरमैन विनीत कुमार की प्रेस कान्फ्रेंस

By: Shishir Sharan Rahi

Published: 25 Feb 2021, 09:16 PM IST

WEST BENGAL NEWS-कोलकाता। तेजी से बढ़ते भारतीय समुद्री क्षेत्र में निवेश, सी-प्लेन टूरिज्म, हेरिटेज क्रूज को बढ़ावा देने समेत अनेक महत्वपूर्ण पहलुओं पर दूसरे मैरीटाइम इंडिया समिट-2021 (एमआईएस 2021) में खास जोर दिया जाएगा। केंद्रीय पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग राज्य मंत्रालय की ओर से वैश्विक स्तर पर दूसरे मैरीटाइम इंडिया समिट-2021 (एमआईएस 2021) का आयोजन किया जाएगा। 3 दिनों तक चलने वाले इस शिखर सम्मेलन का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2 मार्च को करेंगे। कोविड-19 के कारण उत्पन्न स्थिति को देखते हुए यह दूसरा संस्करण ऑनलाइन होगा और इसमें 24 देश भाग लेंगे। श्यामा प्रसाद मुखर्जी पोर्ट के चेयरमैन विनीत कुमार ने 25 फरवरी को प्रेस क्लब में पत्रकारों को संबोधित करते हुए यह जानकारी दी। कुमार ने कहा कि एमआईएस का उद्देश्य भारतीय बंदरगाहों और समुद्री क्षेत्र में घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय दोनों निवेशों को बढ़ावा देना है। इसका विषय है --भारतीय समुद्री क्षेत्र में व्यापार के संभावित अवसरों की खोज और आत्मनिर्भर भारत बनाना। उन्होंने कहा कि पोर्ट की ओर से25 हजार करोड़ से अधिक के समझौता ज्ञापन पर दस्तखत किए जा चुके हैं।कुमार की मौजूदगी में भारत चैम्बर ऑफ कॉमर्स समेत कई संस्थाओं के अधिकारियों के साथ एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। मैरीटाइम इंडिया समिट 2021 भारत सरकार के केंद्रीय पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग राज्य मंत्रालय की प्रमुख पहल है। इससे पहले 2016 में पहली बार इसका आयोजन हुआ था। इस बार आयोजन में लगभग 3 लाख प्रतिनिधियों समेत 24 देश भाग लेंगे। भारतीय दूतावासों के जरिये के जरिये सम्मेलन में भाग लेने के लिये 56 देशों को आमंत्रित किया गया है जिनकी सीमा समुद्र से लगी हैं। एमआईएस 2021 के दूसरे संस्करण में 400 से अधिक परियोजनाओं को प्रदर्शित किया जाएगा। इससे पहले पोर्ट ने पूर्व मेदिनीपुर जिले में हुगली नदी के पास कुकुराहटी में 3,900 करोड़ लागत वाली एलएनजी टर्मिनल को मंजूरी दी थी। 50 लाख टन सालाना क्षमता वाला यह टर्मिनल एलएनजी भंडारण और रि-गैसिफिकेशन के लिए है। 6 हजार करोड़ के आर्थिक मूल्य वाली परियोजना 250 लोगों को और परोक्ष रूप से 750 लोगों को रोजगार उपलब्ध कराएगी।

Shishir Sharan Rahi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned