WEST BENGAL-महावीर और चैतन्य के उपदेश में समानता-

चैतन्य जन्मोत्सव वार्षिक उत्सव

By: Shishir Sharan Rahi

Published: 06 Mar 2021, 10:06 PM IST

BENGAL NEWS-कोलकाता। भगवान महावीर और चैतन्य के उपदेश में कई समानताएं हैं। बागबाजार में चैतन्य जन्मोत्सव के वार्षिक उत्सव में कर सलाहकार व सामाजिक कार्यकर्ता नारायण जैन ने यह उद्गार व्यक्त किए। गौड़ीया मिशन आयोजित राष्ट्रीय सम्मेलन को जैन संबोधित कर रहे थे। इसे बीएन मधुसूदन महाराज के आशीर्वाद से आयोजित किया गया था। उन्होंने कहा कि चैतन्य महाप्रभु ने हमें विनम्रता, सहायकता, घनिष्ठ सामाजिक संबंध, पर्यावरण में सुधार, और मानव जाति के मूल दर्शन का सरलीकरण सिखाया। उन्होंने प्रभु से प्रेम करने और सभी दुखों के प्रति समर्पण करने का मार्ग दिया। महावीर भगवान का संदेश शांति और अहिंसा, जियो और जीने दो (लिव एंड लेट लिव, अपरिग्रह और अनेकानतवाद (बहुलवाद), सुखी जीवन जीने के लिए और समाज के समग्र भलाई के लिए था। अपने जीवन में कृष्ण भी अपने अनुयायियों गोपियों और असंख्य लोगों में एकजुटता के संदेश को फैलाने और खुशी फैलाने का एक जीवंत उदाहरण थे। इस अवसर पर अन्य वक्ता प्रो. टीएन. अधिकारी, प्रो. मकबुल इस्लाम, डॉ. अभिजात बोस, प्रो. एएस. पहाड़ी ने भी अपने विचार साझा किए। सामाजिक कार्यकर्ता बीएल दुगड़ और कंचन सिकारिया भी कार्यक्रम में मौजूद थे।

Shishir Sharan Rahi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned