WEST BENGAL-लाठ का निधन साहित्यिक-सामाजिक-सांस्कृतिक परिवेश के महत्वपूर्ण व्यक्तित्व का अवसान

राजस्थानी संस्थाओं ने रंगकर्मी, लेखक, कवि लाठ के निधन पर जताया शोक

By: Shishir Sharan Rahi

Published: 21 Apr 2021, 07:44 PM IST

BENGAL NEWS-कोलकाता। प्रख्यात रंगकर्मी, लेखक, कवि, साहित्यिक-सामाजिक-सांस्कृतिक संस्थाओं के प्रेरक एवं पोषक प्रवासी राजस्थानी विमल लाठ (79) का बुधवार को पुणे स्थित आवास में निधन हो गया। पिछले 2 महीने से वे शारीरिक व्याधियों से ग्रस्त थे। महानगर के अनेक प्रवासी राजस्थानी संस्थाओं, उद्योगपति आदि ने उनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। बड़ाबाजार कुमारसभा पुस्तकालय के पूर्व मंत्री, बड़ाबाजार लाइब्रेरी के पूर्व अध्यक्ष, अनामिका संस्था के सभी महत्वपूर्ण पदों पर काम करते हुए उन्होंने अपनी प्रतिभा योगयता से अखिल भारतीय कीर्ति अर्जित की। विश्व हिन्दू परिषद, वन बंधु परिषद, भारतीय संस्कृति संसद जैसी अनेक संस्थाओं से वे घनिष्ठ रूप से जुड़े थे। वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कोलकाता दक्षिण भाग के संघचालक भी रहे। कुमारसभा पुस्तकालय के अध्यक्ष डॉ प्रेमशंकर त्रिपाठी ने उनके निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उनका निधन कोलकाता के साहित्यिक-सामाजिक-सांस्कृतिक परिवेश के अत्यंत महत्वपूर्ण व्यक्तित्व का अवसान है। कवि, नाटककार, मंच संचालक तथा समर्पित सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में वे सदैव याद किए जायेंगे। पुस्तकालय के मंत्री महावीर बजाज ने कहा कि यह कुमारसभा की बहुत बड़ी निजी क्षति है। उनका अभाव हमें वर्षों तक खलता रहेगा। राजस्थानी साहित्यकार बंशीधर शर्मा, उद्योगपति जयदीप चितलांगिया, राजस्थान परिषद के महामंत्री अरुण प्रकाश मल्लावत, बड़ाबाजार लाइब्रेरी के उपसभापति जयगोपाल गुप्ता एवं मंत्री अशोक गुप्ता, कवि गिरिधर राय, डॉ तारा दूगड़ प्रभृति आदि ने गहरा शोक व्यक्त किया।

Shishir Sharan Rahi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned