WEST BENGAL---सत्य अपने आप में एक धर्म --जैन

दिगम्बर जैन नया मन्दिर में पूजा, अर्चना, आरती

By: Shishir Sharan Rahi

Published: 13 Sep 2021, 11:30 PM IST

BENGAL NEWS-कोलकाता। दसलक्षण पर्व के तहत13 सितम्बर को उत्तम सत्य धर्म दिवस के रूप में मनाया गया। आचार्य विद्यासागर महाराज के शिष्य केसी. जैन ने बताया कि सत्य अपने आप में एक धर्म है। दशलक्षण पर्व के चौथे या पांचवें दिन इस उत्तम सत्य धर्म की अष्ट द्रव्य से पूजा की जाती है। झूठ बोलना महापाप है तथा झूठे व्यक्ति का कोई विश्वास नहीं करता। दूसरी तरफ सत्यवादि सदा सुख की नींद सोता है और जन-जन का विश्वास पात्र होता है। सदियों से मानव झूठ बोलता आया है फिर भी ‘सत्यमेय जयते’ का सिद्धान्त कभी बदल नहीं सकता। सत्य को धर्म और असत्य को अधर्म कहा है। हम कितने सम्प्रदाय बना लें, मज़हब बना लें, पर वास्तविक धर्म तो सत्य और अहिंसा ही रहेगा, क्योंकि मानव को यदि आत्म शान्ति मिलेगी तो सत्य और अहिंसा से ही मिलेगी।मुनिसंघ व्यवस्था समिति के सुरक्षा मन्त्री सुरेन्द्र कुमार जैन ने बताया कि रवीन्द्र सरणी बडा़ बाजार स्थित दिगम्बर जैन नया मन्दिर में उत्तम सत्य धर्म की विशेष, पूजा, अर्चना, आरती की गई। विश्व शान्ति और ‘सभी मानव सदा सत्य धर्म का पालन करे’ इस भावना के साथ जिनेन्द्र भगवान् के मस्तक पर शान्ति धारा की गई।अब मंगलवार 14 सितम्बर को उत्तम शौच धर्म (मन की पवित्रता) का पूजा अनुष्ठान किया जायेगा।...

आचार्य वर्द्धमान सागर के 71वें जन्मदिवस पर संगीतमय पूजन

हावड़ा। आचार्य वर्द्धमान सागर महाराज के 71वें जन्मदिवस पर कोविड प्रोटोकॉल का पालन कर डॉबसन रोड स्थित पार्श्वनाथ दिगंबर जैन मंदिर में 13 सिंतबर को विशेष कार्यक्रम आयोजित किया गया।आचार्य शांति सागर फाउंडेशन के महासचिव और आचार्यं संघ के अनन्य भक्त राकेश सेठी ने यह जानकारी दी। पंडित आनंद शास्त्री ने विनयांजलि समर्पित की।कार्यक्रम के दौरान संगीतमय पूजन हुआ। मंदिर के मंत्री सुभाष पांड्या, मनोज पाटनी, महावीर गगवाल, प्रकाश पाटनी, मंजू पांड्या, कनक पांड्या, सुरेंद्र जैन, धनेश बडजात्या, सरला पाटनी, सुशील पांड्या, शैलेश गंगवाल, भूमिका सेठी,नमिता जैन, लौकांतिक आदि उपस्थित थे।...........

Shishir Sharan Rahi Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned