scriptWEST BENGAL NEWS | WEST BENGAL--वोट बैंक नीति के कारण विकास का मार्ग अवरुद्ध---स्वामी परमात्मानन्द | Patrika News

WEST BENGAL--वोट बैंक नीति के कारण विकास का मार्ग अवरुद्ध---स्वामी परमात्मानन्द

सनातन हिन्दू धर्म की रक्षा का संकल्प

कोलकाता

Published: December 07, 2021 07:13:55 am

BENGAL NEWS-कोलकाता। सनातन धर्म भारतीय धर्म है जो हिन्दूधर्म के नाम से भी जाना जाता है। अनेकता में एकता भारत की विशेषता है। वोट बैंक की स्वार्थ नीति भ्रष्टाचार के कारण भारत के विकास का मार्ग अवरुद्ध है। स्वामी परमात्मानन्द महाराज ने अपने आशीर्वचन में यह बात कही। ब्रह्ममयी काली बाड़ी के महामंडलेश्वर स्वामी परमात्मानंद महाराज ने निर्वाण पीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी विशोकानन्द भारती महाराज एवं साधु-महात्माओं का सनातन धर्म सम्मेलन में स्वागत किया। स्वामी विशोकानन्द भारती ने कहा भारत विकास के लिये हिन्दू समाज को सामाजिक व्यवस्था एवं नागरिक सुविधाओं के लिये संगठित होकर प्रयास करना होगा। गोमाता, गोविन्द, गुरु परम्परा के महत्व पर विचार व्यक्त करते हुए उन्होंने गोवंश संरक्षण करने की प्रेरणा दी। स्वामी परमात्मानन्द ने कहा कि सन 1947 में भारत की जनसंख्या 33 करोड़ थी वर्तमान में 1 अरब 20 करोड़ से अधिक है। उन्होंने नागरिक सुविधाओं एवं सामाजिक व्यवस्था के लिये कर्तव्यनिष्ठा से सेवाकार्य करने की प्रेरणा दी। स्वामी परमात्मानंद महाराज ने कहा देवी काली की बंगभूमि में रामकृष्ण परमहंस, स्वामी विवेकानन्द, महर्षि अरविन्द एवं मनीषियों के जीवन से प्रेरणा लेकर बंधुत्व सद्भावना एवं धार्मिक आस्था के साथ जीवनयापन करें। इस अवसर पर उपस्थित साधु-महात्मा एवं श्रद्धालु भक्तों ने सनातन हिन्दू धर्म की रक्षा का संकल्प लिया।वैदिक काल में भारतीय उपमहाद्वीप के धर्म के लिये 'सनातन धर्म' नाम मिलता है। 'सनातन' का अर्थ है - शाश्वत या 'हमेशा बना रहने वाला', अर्थात् जिसका न आदि है न अन्त। सनातन धर्म मूलतः भारतीय धर्म है, जो किसी समय पूरे बृहत्तर भारत (भारतीय उपमहाद्वीप) तक व्याप्त रहा है।सनातन धर्म अपने हिंदू धर्म के वैकल्पिक नाम से भी जाना जाता है। वैदिक काल में भारतीय उपमहाद्वीप के धर्म के लिये 'सनातन धर्म' नाम मिलता है। 'सनातन' का अर्थ है - शाश्वत या 'हमेशा बना रहने वाला', अर्थात् जिसका न आदि है न अन्त।सनातन धर्म मूलतः भारतीय धर्म है, जो किसी समय पूरे बृहत्तर भारत (भारतीय उपमहाद्वीप) तक व्याप्त रहा है। विभिन्न कारणों से हुए भारी धर्मान्तरण के बाद भी विश्व के इस क्षेत्र की बहुसंख्यक आबादी इसी धर्म में आस्था रखती है।
WEST BENGAL--वोट बैंक नीति के कारण विकास का मार्ग अवरुद्ध---स्वामी परमात्मानन्द
WEST BENGAL--वोट बैंक नीति के कारण विकास का मार्ग अवरुद्ध---स्वामी परमात्मानन्द

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

भाजपा की दर्जनभर सीटें पुत्र मोह-पत्नी मोह में फंसीं, पार्टी के बड़े नेताओं को सूझ नहीं रह कोई रास्ताविराट कोहली ने छोड़ी टेस्ट टीम की कप्तानी, भावुक मन से बोली ये बातAssembly Election 2022: चुनाव आयोग ने रैली और रोड शो पर लगी रोक आगे बढ़ाई,अब 22 जनवरी तक करना होगा डिजिटल प्रचारभारतीय कार बाजार में इन फीचर के बिना नहीं बिकेगी कोई भी नई गाड़ी, सरकार ने लागू किए नए नियमUP Election 2022 : भाजपा उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी, गोरखपुर से योगी व सिराथू से मौर्या लड़ेंगे चुनावमौसम विभाग का इन 16 जिलों में घने कोहरे और 23 जिलों में शीतलहर का अलर्ट, जबरदस्त गलन से ठिठुरा यूपीBank Holidays in January: जनवरी में आने वाले 15 दिनों में 7 दिन बंद रहेंगे बैंक, देखिए पूरी लिस्टUP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्य
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.